मारपीट मामले में पुलिस नहीं दर्ज कर रही है प्राथमिकी

दर्शनी में लिप्टस की सूखी लकड़ी को लेकर दो पक्षों में हुआ था विवाद चले थे लाठी-डंडे

कोरांव,प्रयागराज:(स्वतंत्र प्रयाग): कोरांव थाना क्षेत्र के दर्शनी गांव में लिप्टस की सूखी लकड़ी को लेकर दो पक्षों में हुए विवाद मामले में कोरांव पुलिस द्वारा पीड़ित पक्ष की प्राथमिकी दर्ज नहीं की जा रही है। जिससे पीड़ित पक्ष आए दिन थाने का चक्कर लगा रहा है। जबकि मामले में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक प्रयागराज क्षेत्राधिकारी मेजा के द्वारा भी कोरांव पुलिस को कार्यवाही हेतु निर्देशित किया है। बावजूद इसके पुलिस मामले में टालमटोल कर रही है।

 ज्ञातव्य हो कि अवध नारायण पुत्र सोभनाथ निवासी दर्शनी लिप्टस का पेड़ कटवाए थे। सूखी लकड़ियां उनके दरवाजे पर ही रखी थी कि गांव के ही संतलाल, केसरी लाल, विजय कुमार, अरुण कुमार, आलोक कुमार, पुत्रगण शिव प्रसाद व शिव प्रसाद पुत्र छोटक ने चोरी से लकड़ियां ढो रहे थे इसी बीच जब अवध नारायण ने देखा तो मना किया तो उक्त लोग मारपीट पर आमादा हो गए। 

लाठी-डंडे व सरिया से जमकर मारा पीटा जिसमें अवध नारायण पक्ष के कई लोग गंभीर रूप से घायल हो गए। जिनका उपचार स्वरूप रानी नेहरू अस्पताल में कराया गया। 

बावजूद इसके पुलिस मामले में एफ आई आर नहीं दर्ज कर रही है जिससे पीड़ित परिवार में आक्रोश ब्याप्त है। पीड़ित अवध नारायण अपनी नाबालिग बेटी के साथ उपरोक्त लोगों द्वारा अभद्रता करने की भी शिकायत की है किंतु पुलिस मामले को गंभीरता से नहीं ले रही है। जिससे पीड़ित पक्ष न्याय के लिए दर-दर भटक रहा है।

अजय प्रताप सिंह

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रधानमंत्री जी भारतीय आयुर्वेद चिकित्सा में,लेमन थेरेपी से कोरोना वायरस को मिल रही है मात,:-पूर्व डीजीपी मैथलीशरण गुप्त

Coronavirus से घबराएं नहीं,दो बूंद नींबू का रस लें, पिएं हल्दी युक्त गुनगुना पानी :-पूर्व डीजीपी मैथिलीशरण गुप्त

कल से बदल जाएंगे कई नियम , आम आदमी की जेब और घर के बजट पर इसका सीधा असर