संदेश

सितंबर, 2020 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

मक्खन और देशी घी की कीमत घटाएगी यूपी सरकार, जानिए कितने प्रतिशत कम होगा दाम

चित्र
लखनऊ:(स्वतंत्र प्रयाग न्यूज़): देसी घी एवं मक्खन पर लगने वाले जीएसटी के दर को सरकार जल्द ही कम कर सकती है। ताकि ये दोनों दुग्ध उत्पाद सस्ते हो सकें और प्रदेश में इनकी खपत बढ़ सके। दुग्धविकास विभाग को आशा है कि दोनों घी-मक्खन पर लगने वाला 12 फीसदी जीएसटी को अगर अन्य दुग्ध उत्पादों पर लगने वाले 05 प्रतिशत की बराबर कर दिया जाए तो इनकी मांग में वृद्धि हो जाएगी जिसका लाभ दुग्ध संघों के साथ-साथ किसानों को भी होगा।   लिहाजा विभाग ने वस्तु स्थितियों के बारे में जानकारी देते हुए सरकार को विभागीय पत्र भेजा है जिसमें जीएसटी कम कराकर दोनों उत्पादों पर लगने वाले जीएसटी को बाकि के समान करने का अनुरोध किया गया है।      मांग कम होने तथा उत्पादन बढ़ने से दूध की खपत समस्या बनती जा रही है। दुग्ध संघ किसानों या पशुपालकों से उतना दूध नहीं ले पा रहा जितना किसाना या पशुपालक देना चाहते हैं। कारण शादी-ब्याह से लेकर अन्य खान-पान वाले समारोह या कार्यक्रम भी अब तक शुरू नहीं हो पाए हैं। होटल-रेस्टोरेंटों में मांग काफी कम है। ऐसे में दूध व दुग्ध उत्पादों को खपाना दुग्ध संघों के लिए समस्या बन चुकी है।

इंदौर में आज ही शुरू हुई थी बस सेवा और खाई में जा गिरी 30 यात्रियों से भरी बस

  इंदौर:(स्वतंत्र प्रयाग न्यूज़), मध्य प्रदेश में इंदौर से रीवा जा रही यात्री बस बेकाबू होकर खाई में जा गिरी। यह दुर्घटना सुबह 5 बजे आनू फाटक मोड़ के पास घटी है।  जहां तेज रफ्तार बस बेकाबू होकर नाले में जा गिरी। हादसे में लगभग एक दर्जन से अधिक यात्री घायल हो गए। जिन्हें पास के अस्पताल में एडमिट कराया गया है। जानकारी के मुताबिक, हिंडोरिया थाना क्षेत्र के अन्तर्गत आनू फाटक के समीप इंदौर के MP 30 P 3030 इंटरसिटी कंपनी की बस का संतुलन बिगड़ा और वह खाई में गिर गई।   बताया जा रहा है कि बस में लगभग 20 से 30 यात्री थे सवार थे। हादसे के बाद ड्राइवर कंडक्टर घटनास्थल से फरार हो गए। आपको बता दें कि इंदौर संभाग में लॉकडाउन लागू होने के 5 महीने के बाद आज से इंदौर में बस परिवहन सेवा आरंभ की गई थी। इंदौर कलेक्टर मनीष सिंह से ट्रांसपोर्ट एसोसिएशन की मीटिंग के बाद यह फैसला लिया था।    शहर के BRTS में बस सेवा शुरू की गई थी। जिसमें सभी बसों को और बस स्टाफ को संचालन से पहले पूरी तरह से सैनिटाइज किया गया है। वहीं बसों में मुसाफिरों को पहले जैसी सभी सुविधाएं पूर्व निर्धारित किराए के मुताबिक ही मिली। A