प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य उद्योग उन्नयन योजना प्रदेश में प्रगति पर

लखनऊ ब्यूरो: (स्वतंत्र प्रयाग): उ0प्र0 के उपमुख्यमंत्री  केशव प्रसाद मौर्य के नेतृत्व और कुशल दिशा-निर्देशन में प्रदेश में प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य उद्योग उन्नयन योजना का क्रियान्वयन किया जा रहा है। वर्ष 2021-22 में प्रदेश में 9301 सूक्ष्म खाद्य प्रसंस्करण उद्यमों के उन्नयन का भारत सरकार द्वारा प्राविधान किया गया है।

 इस योजना के क्रियान्वयन की कड़ी में वर्ष 2020-21 में 79 जनपदीय रिसोर्स पर्सन का इम्पैनेलमेन्ट किया गया है और 477 इकाइयों का डी0पी0आर0 भारत सरकार के पोर्टल पर अपलोड कर दिया गया है। प्रदेश के समस्त जिलों में, असंगठित क्षेत्र में स्थापित सूक्ष्म खाद्य प्रसंस्करण इकाइयों के उन्नयन हेतु स्टेट लेवल अपग्रेडेशन प्लान्ट की स्टडी संचालित है।

उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग से प्राप्त जानकारी के अनुसार खाद्य प्रसंस्करण उद्योग मंत्रालय भारत सरकार द्वारा उ0प्र0 हेतु 10 इन्क्यूबेशन सेन्टर/कॉमन फैसिलिटी सेन्टर की स्थापना के प्रस्ताव को स्वीकृति प्रदान की गयी है और परियोजना लागत धनराशि  4023.31 लाख के सापेक्ष धनराशि  3326.11 लाख पी0आई0सी0 द्वारा परियोजना लागत की संस्तुति की गयी है। 

इस योजना के अन्तर्गत उद्यमियों को प्रशिक्षण प्रदान करने हेतु नामित 35 मास्टर टेनर्स से 17 मास्टर टेनर्स विभिन्न श्रेणियों में सुयोग्य घोषित हुये। मास्टर टेªनर्स, विभाग के जनपदीय अधिकारियों एवं अन्य रिसोर्स पर्सन्स को एस0एल0टी0आई0 के रूप में नामित रीजनल फूड रिसर्च एण्ड एनालिसिस सेन्टर द्वारा योजना की गाइडलाइन्स और एम0आई0एस0 पोर्टल के सम्बन्ध में प्रशिक्षण प्रदान किया गया है। 20 जिला रिसोर्स पर्सन को भी प्रशिक्षण प्रदान किया गया है।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरायइनायत में सराफा की दुकान से लाखों की लूट, दुकान खुलते ही चार पांच की संख्या में पहुंचे लुटेरों ने दिया घटना को अंजाम

जिलाधिकारी ने विकास खण्ड करछना, मेजा एवं कोरांव में आयोजित गरीब कल्याण मेले में पहुंचकर विभिन्न विभागों के द्वारा लगाये गये स्टाॅलों का किया अवलोकन

विभिन्न आयु वर्गो हेतु चयन ट्रायल 15 अगस्त को