जिलाधिकारी ने 15 अगस्त तक गोवंशो को गौशाला में प्रवेश हेतु दिए सख्त निर्देश

        

 चित्रकूट ब्यूरो:(स्वतंत्र प्रयाग):  जिलाधिकारी शुभ्रान्त कुमार शुक्ल की अध्यक्षता में  कलेक्ट्रेट सभागार में गौशाला में गोवंशो का रखरखाव एवं भरण-पोषण  तथा ग्राम पंचायत ऊचाडीह मानिकपुर में मुख्यमंत्री आवास योजना के निर्माण के संबंध में समीक्षा बैठक की गई। समीक्षा बैठक में गौशाला  की चर्चा की गई। मुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि जनपद में 13 पशु चिकित्सालय हैं तथा 294  गौशालाएं संचालित है। 

जिलाधिकारी ने सभी खंड विकास अधिकारीयों को आदेश दिया कि सभी खंड विकास अधिकारी ग्राम पंचायत के माध्यम से गोवंश को गौशाला में पहुंचाएं। उन्होंने यह भी कहा कि  15 अगस्त तक गोवंश गौशाला में  चले जाना चाहिए तथा उनके चारा भूसा, पेयजल  एवं छाया की व्यवस्था होनी चाहिए। 

अगले सप्ताह इसकी बैठक की जाएगी। इसके पश्चात मुख्यमंत्री आवास योजना ग्रामीण ग्राम ऊचाडीह के आधारभूत सुविधाओं की कई योजनाओं पर चर्चा की गई। ग्राम ऊचाडीह में आवासों की संख्या 159 बनाई जा रही है। 

जिसमें ग्राम प्रधान की भूमिका सराहनीय होगी। ग्राम ऊचाडीह में बन रहे आवासों में जिलाधिकारी  ने कहा कि कॉलोनी में सड़क, नाली का निर्माण, कॉलोनी में पेयजल की व्यवस्था, स्ट्रीट लाइट की व्यवस्था, सामुदायिक शौचालय, एवं जन सुविधाएं और ठोस एवं तरल अपशिष्ट प्रबंधन, कॉलोनी में ओपन जिम, व्यायाम उपकरण एवं झूला सहित पार्क का निर्माण एवं सिवर प्रणाली का भी निर्माण होना है इसके पश्चात जिलाधिकारी ने कहा कि इसमें लाभार्थियों से भी पूछ लिया जाए कि इसकी डिजाइनिंग किस प्रकार हो तथा इसका वितरण लाटरी पद्धति के माध्यम से किया जाए जिससे किसी प्रकार की समस्या न हो।

                            

इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी  अमित आसेरी, ज्वाइंट मजिस्ट्रेट/ खंड विकास अधिकारी चित्रकूट धाम कर्वी जयदेव सिंह, अपर जिला अधिकारी गणेश प्रसाद सिंह, अपर उपजिलाधिकारी आकांक्षा सिंह आदि लोग उपस्थित थे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रधानमंत्री जी भारतीय आयुर्वेद चिकित्सा में,लेमन थेरेपी से कोरोना वायरस को मिल रही है मात,:-पूर्व डीजीपी मैथलीशरण गुप्त

Coronavirus से घबराएं नहीं,दो बूंद नींबू का रस लें, पिएं हल्दी युक्त गुनगुना पानी :-पूर्व डीजीपी मैथिलीशरण गुप्त

कल से बदल जाएंगे कई नियम , आम आदमी की जेब और घर के बजट पर इसका सीधा असर