अचानक लगी आग से जलकर खाक हुआ गरीब का आशियाना

लालापुर/प्रयागराज (स्वतंत्र प्रयाग) लालापुर थाना क्षेत्र के अन्तर्गत चकसुचेर गांव के निवासी बच्चा लाल जो कि शारीरिक रूप से विकलांग भी है, गुरुवार बीती रात को उनके खपरैल घर में देर रात अचानक आग लग गई । 

उस समय घर के सभी परिजन सो रहें थे। धर के अंदर ही आग लग चुकी है, इस बात से अंजान सो रहें सभी परिजन को जब पता चला तो उठकर घर के बाहर निकलकर शोर मचाया तो आस पास के लोग भी एकत्र हो गये, और आग बुझाने का प्रयास करने लगें। लेकिन जब तक लोग आग पर काबू कर पाते तब तक घर की पूरी गृहस्थी जलकर खाक हो चुकी थी ।

बता दें कि लालापुर चकसुचेर गांव निवासी बच्चा लाल पासी मानसिक रूप से कमजोर व दिव्यांग है । वह अपनी पत्नी पांच लड़के एवं तीन बेटियों के साथ अपने खपरैल घर में ही रह कर गुजारा करते थे । गुरुवार की रात कच्चे चूल्हे में रोज की तरह खाना बना और सभी खा कर सो गए ।

 चूल्हे में कुछ आग बची रह गई। देर रात तेज हवा के साथ आंधी आई और इसी बीच चूल्हे की चिंगारी निकली और खपरैल घर में जा लगी । आग की लपटें निकलने लगी तो घर में सो रहे लोगों की नींद खुली । सभी घर बाहर भागे और शोर मचाये तो आस पास के लोग दौड़े और आग बुझाने का प्रयास करने लगे लेकिन तब तक दिव्यांग बच्चा की गृहस्थी जलकर राख हो चुकी थी ।

बच्चा लाल के पास सरकारी राशन कार्ड को छोड़कर अन्य कोई सरकारी योजनाओं का लाभ नहीं मिला सका है। 

दिव्यांग बच्चा लाल पासी निहायत ही गरीब है, सरकार की उज्ज्वला गैस योजना ,आवास आदि का उसे अभी तक कोई लाभ नहीं मिला । बारिस के समय आग लग जाने घर समेत गृहस्थी जलकर खाक होने के बाद बच्चा और उसके परिवार को सिर छुपाने की जगह भी नहीं बची ।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरायइनायत में सराफा की दुकान से लाखों की लूट, दुकान खुलते ही चार पांच की संख्या में पहुंचे लुटेरों ने दिया घटना को अंजाम

जिलाधिकारी ने विकास खण्ड करछना, मेजा एवं कोरांव में आयोजित गरीब कल्याण मेले में पहुंचकर विभिन्न विभागों के द्वारा लगाये गये स्टाॅलों का किया अवलोकन

विभिन्न आयु वर्गो हेतु चयन ट्रायल 15 अगस्त को