पेड़-पौधों पर ही हमारा पूरा जीवन निर्भर:एसडीएम


ग्रामीणों से पौधरोपण और पर्यावरण संरक्षण का आह्वान


प्राथमिक विद्यालय गन्ने में रोपे गए फल व छायादार पौधे


शंकरगढ़,प्रयागराज:(स्वतंत्र प्रयाग):  पेड़-पौधे सिर्फ आक्सीजन ही नहीं देते, बल्कि हमारा पूरा जीवन इन्ही पर निर्भर है। रोजमर्रा के उपयोग की बहुत सी वस्तुएं पेड़ -पौधों से ही मिलती हैं। जीवन का यह क्रम/चक्र बना रहे, इसलिए सभी को पौधरोपण पर ध्यान देना होगा। यह बातें उपजिलाधिकारी बारा सुभाषचंद्र यादव ने कही।उपजिलाधिकारी बारा ने प्राथमिक विद्यालय गन्ने में पौधरोपण करते हुए पर्यावरण संरक्षण का संदेश दिया। 

यमुनापार के शंकरगढ़ अंतर्गत नारीबारी क्षेत्र में सोमवार को भारतीय जनता पार्टी द्वारा आयोजित वृक्षारोपण कार्यक्रम के तहत एसडीएम बारा सुभाषचंद्र यादव एवं मंडल अध्यक्ष अंजनी लाल ने प्राथमिक विद्यालय गन्ने में आम, अमरूद, कदम, आंवला, पीपल, बरगद आदि पौधों का रोपण किया।

कहा कि हर एक गांव, घरों के आसपास पेड़-पौधों को बढ़ावा देना है, तभी पृथ्वी पर शुद्ध पर्यावरण बना रहेगा। इसके लिए हर एक व्यक्ति को पांच-पांच पेड़ जरूर लगाने चाहिए, क्योंकि पेड़ों से ही पेट भरने के लिए फल, सब्जियां, अनाज, तन ढकने के लिए कपड़ा आदि दुर्लभ चीजें मिलती हैं।

एसडीएम बारा ने कहा कि पेड़-पौधों से ही हमारे जीवन के लिए ऑक्सीजन मिलता है, जिसका महत्व कोविड-19 में देखने को मिला। इसलिए सब लोगों को संकल्प लेकर वृक्षारोपण पर्यावरण संरक्षक पर जोर देना चाहिए। इस अवसर पर वृक्षारोपण संयोजक अक्षय विश्वकर्मा, जिला महामंत्री विजय शंकर शुक्ला, रमेशचंद्र पांडेय, ग्राम प्रधान बैजनाथ, अर्जुन गुप्ता, संजीव पांडेय, प्रधान दिवाकर सिंह, अनिल चतुर्वेदी आदि के साथ ग्रामीण भी मौजूद रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रधानमंत्री जी भारतीय आयुर्वेद चिकित्सा में,लेमन थेरेपी से कोरोना वायरस को मिल रही है मात,:-पूर्व डीजीपी मैथलीशरण गुप्त

Coronavirus से घबराएं नहीं,दो बूंद नींबू का रस लें, पिएं हल्दी युक्त गुनगुना पानी :-पूर्व डीजीपी मैथिलीशरण गुप्त

कल से बदल जाएंगे कई नियम , आम आदमी की जेब और घर के बजट पर इसका सीधा असर