पत्रकार के हत्यारे को पकड़ कड़ी सजा नही दी दो पत्रकार संगठन आंदोलन को विवश: आलोक त्रिपाठी

 


घूरपुर,प्रयागराज:(स्वतंत्र प्रयाग): प्रदेश में लगातार पत्रकारों के साथ हो रही घटनाओं को लेकर बुधवार के दिन भारतीय राष्ट्रीय पत्रकार महासंघ के मंडल अध्यक्ष आलोक त्रिपाठी के नेतृत्व में एक आवश्यक बैठक हुई । जिसमें महासंघ के कई पदाधिकारी मौजूद रहे। 

इस बीच दो दिन पूर्व खीरी थाना क्षेत्र के वरिष्ठ पत्रकार ओम प्रकाश भुरतिया की निर्मम हत्या किए जाने की निंदा करते हुये मंडल अध्यक्ष आलोक त्रिपाठी ने कहा कि जब से प्रदेश में सरकार आई है । तब से चाहे ग्रामीण अंचल के पत्रकार हो या शहरी क्षेत्र के पत्रकार व छायाकार हो उनके साथ घटनाएं हो रही है । सरकार में लोकतंत्र की कोई छवि दिख ही नहीं रही है । 

जबकि पत्रकार को लोकतंत्र का चौथा स्तंभ कहा जाता है । कलम कारो की कलम को चलने नहीं दिया जा रहा है । यदि उक्त विगत दिनों हुई पत्रकारों के साथ हुई घटनाओं का संज्ञान लेकर  सरकार कोई ठोस कदम नहीं उठाती तो प्रदेश भर के सभी संगठनों के पत्रकार एक बैनर तले आकर सरकार के खिलाफ मोर्चा खोलने को विवश होंगे। 

जिसकी सारी जिम्मेदारी प्रदेश सरकार की होगी । आगे कहा कि पत्रकारों की सुरक्षा की भी जिम्मेदारी सरकार ही है । इस मौके पर आरके शर्मा मंडल उपाध्यक्ष, आरिफ सिद्दीकी ,अजय कुमार द्विवेदी,राजेश निषाद,प्रवीण मिश्र, अखिलेश त्रिपाठी ,जेपी शुक्ल आदि कई पत्रकार मौजूद रहे ।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रधानमंत्री जी भारतीय आयुर्वेद चिकित्सा में,लेमन थेरेपी से कोरोना वायरस को मिल रही है मात,:-पूर्व डीजीपी मैथलीशरण गुप्त

Coronavirus से घबराएं नहीं,दो बूंद नींबू का रस लें, पिएं हल्दी युक्त गुनगुना पानी :-पूर्व डीजीपी मैथिलीशरण गुप्त

कल से बदल जाएंगे कई नियम , आम आदमी की जेब और घर के बजट पर इसका सीधा असर