बढ़ती महंगाई के विरोध में खाली गैस सिलेंडर रख किया विरोध प्रदर्शन


घूरपुर,प्रयागराज:(स्वतंत्र प्रयाग): संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर गुरुवार के दिन अखिल भारतीय किसान मजदूर सभा प्रयागराज के बैनर तले  बढ़ती मंहगाई को लेकर घूरपुर के  बीकर मे खाली गैस सिलेंडर लेकर  लाल सलाम कार्यकर्ताओं ने विरोध प्रदर्शन करते हुए सरकार के खिलाफ नारेबाजी की । 

इस बीच वक्ताओं ने सरकार पर हमला करते हुए कहा कि मोदी सरकार डीजल, पेट्रोल तथा रसोई गैस के दाम मे वृध्दि कर अपने ही जनता पर लगातार मंहगाई का बोझ बढा़ रही है , जिससे देश के  मेहनतकश मजदूर आम आदमी  का जीना लगातार दूभर होता जा रहा है। 

आगे कहा कि मार्च और मई 2020 के बीच केंद्र सरकार ने केंद्रीय एक्साइज ड्यूटी को पेट्रोल पर रु/13 और डीजल पर रु/16 प्रति लीटर की दर से बढा़या था,जो अब तक की सबसे अधिक वृध्दि है। हम जो दाम देते हैं उसका 65 फीसदी हिस्सा सरकारी टैक्स है। इससे सभी वस्तुओं के दाम बढ़ते हैं। 

21 जून 2021 को भारत सरकार ने पेट्रोल के दाम रु०/ 99.89, प्रति लीटर थे, जबकि पाकिस्तान मे यह रु०/52.21,श्रीलंका मे रु/68.64, नेपाल मे रु०/ 78.23, और बंग्लादेश मे रु०/77,92 थे। 

इसकी तुलना मे एयर टरबाइन फ्यूल यानि हवाई जहाज का ईंधन केवल रु०/61.30 प्रति लीटर था। 

इसी तरह 28 जून 2021 को भारत मे डीजल के दाम रु०/99.30 जबकि पाकिस्तान मे रु०/53.06,श्रीलंका मे रु०/ 41.58, नेपाल मे रु०/ 69, और बंग्लादेश मे रु०/57.08,थे । खेती यातायात और परिवाहन मे डीजल ही मुख्य ईंधन है और इसके दाम बढ़ने का सबसे ज्यादा बोझ मेहनतकश मजदूर और किसान पर पड़ता है। 

आकृति सागर ने अपने वक्तब्य मे कहा मोदी जी महिलाओं को गैस सिलेंडर देकर कहे थे कि चूल्हे मे लकडी़ जलाने से अब महिलाओं का आंसू नही बहेगा, लेकिन मोदी जी 400 वाला गैस सब्सिडी के नाम फर 800 से 900 कर दिये जो आज सब्सिडी को समाप्त कर दिया गया, देश की मेहनतकश महिलांए पुनः चूल्हे मे लकडी़ फूंक आंसू बहा रही हैं।

सुरेश निषाद ने कहा जब से केंद्र व राज्य मे आरएसएस बीजेपी की सरकार आई है खास तौर से मजदूरों के जीने का साधन लगातार छीने जा रहे हैं, यूपी सरकार ने 24 जून 2019 को गलत आदेश लाकर नदी मे नाव से खनन पर प्रतिबंध लगा दिया,नदी को पूंजीपति व बडे़ माफिया के हवाले कर दिया जिससे लाखों लोग भुखमरी के कगार पर चले  गये हैं।

इस विरोध सभा मे विनोद निषाद, राममूरत, संजय, दीपचंद, राम आसरे, शंकर, विरेंद्र,कमलेश,कलावती,बिमला,किरन,बसंती देवी,गुलाब कली आदि ,कई दर्जन लोग मौजूद रहे ।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रधानमंत्री जी भारतीय आयुर्वेद चिकित्सा में,लेमन थेरेपी से कोरोना वायरस को मिल रही है मात,:-पूर्व डीजीपी मैथलीशरण गुप्त

Coronavirus से घबराएं नहीं,दो बूंद नींबू का रस लें, पिएं हल्दी युक्त गुनगुना पानी :-पूर्व डीजीपी मैथिलीशरण गुप्त

कल से बदल जाएंगे कई नियम , आम आदमी की जेब और घर के बजट पर इसका सीधा असर