चकबंदी प्रक्रिया में गड़बड़ी करने वालों को बख्शा नहीं जायेगा: जिलाधिकारी


चित्रकूट ब्यूरो:(स्वतंत्र प्रयाग):जिलाधिकारी शुभ्रान्त कुमार शुक्ल की अध्यक्षता में चकबंदी कार्यों की प्रगति के संबंध में एक आवश्यक बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में संपन्न हुई।अपर उपजिलाधिकारी/बंदोबस्त अधिकारी चकबंदी संगम लाल ने बताया कि जनपद में 82 गांव में चकबंदी प्रक्रिया चल रही है।

 जिसमें से इस वित्तीय वर्ष में 6 ग्रामों में 27/52 के तहत कब्जा परिवर्तन करा दिया जाएगा। जिलाधिकारी ने बंदोबस्त अधिकारी चकबंदी को निर्देश दिए कि जो मामले आपके न्यायालय में लंबित है, उन्हें तत्काल निस्तारित कराएं। 

उन्होंने समस्त चकबंदी अधिकारी तथा सहायक चकबंदी अधिकारियों को निर्देश दिए कि जनपद के जो गांव चकबंदी कार्य के लिए चयनित किए गए हैं, उसमें तेजी से कार्य कराएं। जो मुकदमे लंबित हैं, उनका गुणवत्तापूर्ण निस्तारण कराएं। मुझे कहीं पर भी कोई समस्या नहीं मिलना चाहिए। 

अन्यथा मैं आप लोगों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करूंगा। जिन तहसीलों पर वाद अधिक लंबित है, उन संबंधित गांव में जाकर मौके पर चकों का निस्तारण करें। आप लोग निष्पक्षता के साथ कार्य करें। जब आप परिश्रम करेंगे तो लोगों को समय से लाभ मिलेगा जो चकबंदी के मुख्य उद्देश्य है।

 कहीं पर अगर चकबंदी में गड़बड़ी हुई तो मैं आप लोगों को बख्शूगा नहीं, सख्त कार्रवाई करूंगा। बंदोबस्त अधिकारी चकबंदी को यह भी निर्देश दिए कि आप लगातार चकबंदी के कार्यों की समीक्षा करें और कार्यों में तेजी लाएं। 

चकबंदी अधिकारी पहाड़ी अनंत सिंह ने बताया कि जनपद में वर्ष 2013 से 41 गांव में सर्वे होना है जिसमें सर्वे की टीम न होने के कारण अभी तक नहीं हो पाया है। इस पर जिलाधिकारी ने कहा कि अगर सर्वे टीम नहीं है तो चकबंदी लेखपाल व कानूनगो को लगाकर सर्वे कराया जाए तथा भविष्य में नोट करें की क्षमता के अनुसार प्रस्ताव शासन को भेजा जाए और सर्वे कार्य के लिए भी शासन को पत्र भेजा जाए, ताकि वहां से सर्वे टीम भेजी जाए और निस्तारण हो सके। 

उन्होंने चकबंदी अधिकारियों को निर्देश दिए कि लेखपाल कानूनगो चकबंदी कर्ताओ से अच्छी तरह से कार्य ले। अगर जो कर्मचारी कार्य न करें तो उसके खिलाफ कार्यवाही कराएं। लक्ष्य के अनुसार चकबंदी के कार्यों को कराया जाए।

 उन्होंने कहा कि जो चकबंदी अधिकारी निलंबित चल रहे हैं, उसमें तत्काल विवेचना की रिपोर्ट प्राप्त कर कार्यवाही करें और समय से आरोप पत्र तैयार कर तामीला कराएं। इस संबंध में मेरी तरफ से चकबंदी आयुक्त को पत्र भी भेजा जाए। उन्होंने कहा कि जो भी प्रार्थना पत्र समस्याओं के प्राप्त हो रहे हैं उसका गांव में मौके पर जाकर न्याय उचित कार्यवाही कराएं।

                      बैठक में अपर जिलाधिकारी जी पी सिंह, उप जिला अधिकारी संगम लाल, अपर उप जिलाधिकारी आकांक्षा सिंह, चकबंदी अधिकारी पहाड़ी अनंत सिंह , चकबंदी अधिकारी राजापुर, मऊ/ मानिकपुर सहित समस्त सहायक चकबंदी अधिकारी एवं अन्य अधिकारी मौजूद रहे।


उत्तम शुक्ला

ब्यूरो हेड चित्रकूट 

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रधानमंत्री जी भारतीय आयुर्वेद चिकित्सा में,लेमन थेरेपी से कोरोना वायरस को मिल रही है मात,:-पूर्व डीजीपी मैथलीशरण गुप्त

Coronavirus से घबराएं नहीं,दो बूंद नींबू का रस लें, पिएं हल्दी युक्त गुनगुना पानी :-पूर्व डीजीपी मैथिलीशरण गुप्त

कल से बदल जाएंगे कई नियम , आम आदमी की जेब और घर के बजट पर इसका सीधा असर