आज शहर पश्चिमी विकास की पहचान बन चुका है: सिद्धार्थ नाथ सिंह

 


प्रयागराज:(स्वतंत्र प्रयाग): मैंने विधानसभा शहर पश्चिमी में ईमानदारी के साथ विकास कराने का संकल्प लिया हूं यह बातें उत्तर प्रदेश सरकार के प्रवक्ता एवं कैबिनेट मंत्री  सिद्धार्थ नाथ सिंह ने प्रीतम नगर मंडल में भाजपा सेक्टर प्रमुखों से जनसंवाद के दौरान कहीं।

              सिद्धार्थ नाथ सिंह ने कहा 2017 के चुनाव में जनता ने मुझसे दो मांग किया था पहला शहर पश्चिमी में भूमाफिया,गुंडा, अराजकता, अपरहण, बलात्कार की घटना, महिलाओं का घर से न निकल पाना एवं हत्या के उद्योग से मुक्ति दिलाने  तथा विधानसभा के पिछड़े इलाकों के गांव एवं शहरी क्षेत्र में विकास कराने और अविकसित सड़कों को दुरुस्त कराने का किया था।


साढ़े चार सालों में ईमानदारी से जनता के आशीर्वाद व सहयोग से विकास कर दिखाया हूँ 

शहर पश्चिमी में पिछले साढ़े 4 सालों के दौरान दोनों वादों को ईमानदारी से जनता के आशीर्वाद व सहयोग से कर दिखाया हूँ।जिसमें डेढ़ साल कोरोना महामारी का कठिन दौर भी गुजरा है।मैंने जो संकल्प लिया था शहर पश्चिमी में प्रयागराज जिले के अंदर सर्वाधिक विकास की सीढ़ी कोई भी आकर देख सकता है।

आज शहर पश्चिमी विकास की पहचान बन चुका है।गंगा प्रदूषण विभाग के खिलाफ काफी शिकायतें मिलने पर कहा कि दो माह का समय दे रहा हूँ जहाँ भी सीवरेज की समस्याएं है और सीवरेज का कार्य होने के बाद इंटरलॉकिंग या सड़को को सही बनाएं।

नगर निगम द्वारा विकास कार्यों की गति में तेजी लाने का निर्देश दिया और भाजपा कार्यकर्ताओं को भरोसा दिया कि शहर पश्चिमी में विकास की नींव रख दिया है अगले पांच सालों में कोई गली या मुहल्ले विकास से अछूते नहीं रहेंगे।

            भाजपा सेक्टर संयोजक केशव लाल मिश्र, महादेव वैश्य,सतेंद्र शर्मा, रेनु गिरी, राधा कुशवाहा, अजय सिंह के आवास पहुँचे और विकास को लेकर चर्चा हुई तथा जनता की समस्याओं से रूबरू हुए। सम्बंधित अधिकारियों को कड़े रूप से समयबद्ध कार्यवाही का निर्देश दिया। 


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रधानमंत्री जी भारतीय आयुर्वेद चिकित्सा में,लेमन थेरेपी से कोरोना वायरस को मिल रही है मात,:-पूर्व डीजीपी मैथलीशरण गुप्त

Coronavirus से घबराएं नहीं,दो बूंद नींबू का रस लें, पिएं हल्दी युक्त गुनगुना पानी :-पूर्व डीजीपी मैथिलीशरण गुप्त

कल से बदल जाएंगे कई नियम , आम आदमी की जेब और घर के बजट पर इसका सीधा असर