दस दिवसीय निःशुल्क कजरी कार्यशाला का शुभारम्भ


प्रयागराज:(स्वतंत्र प्रयाग): लोक संस्कृति विकास संस्थान, प्रयागराज की ओर से सिविल लाइन्स स्थित आनंद योगालय में निःशुल्क दस दिवसीय कजरी लोकगीत के कार्यशाला का सुभारम्भ हुआ। इस कार्यशाला में 40 महिला प्रतिभागियों का प्रवेश लिया गया है जिसको लोककलाविद संगीत नाटक अवार्डी उदय चंद्र परदेसी प्रशिक्षित कर रहे हैं। 

कार्यशाला के संयोजक शरद कुमार मिश्र ने बताया कि सावन मास में कजरी गायन की प्रथा न जाने कब से है। कजरी में जो धुनें गायी जाती थी वह अब धीरे धीरे विलुप्त प्राय हो रहे हैं इसलिए इसे बचाने हेतु कजरी की कार्यशाला आयोजित की जा रही है। 


शिक्षार्थियों को कजरी अंतर्गत गाये जाने वाले विभिन्न प्रकार के कजरी जैसे मिर्जापुरी कजरी, बनारसी कजरी, ढुंनमुनिया कजरी, ख्याल कजरी, शायरी कजरी, बारहमासा कजरी, ककहरा कजरी, ताश की कजरी आदि से अवगत कराया जायेगा। 

आज प्रशिक्षार्थियों ने बनारसी कजरी विंध्याचल धाम गंगा तिरवा कि देवी विंध्यवासिनी के डेरवा सिखाया गया। कार्यक्रम की सह संयोजक लोक गायिका प्रिया द्विवेदी ने सभी प्रतिभागियों का स्वागत किया। इस अवसर पर विक्रांत आनंद त्रिपाठी, शशिकांत, राजेश कुमार गुप्ता आदि उपस्थित रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रधानमंत्री जी भारतीय आयुर्वेद चिकित्सा में,लेमन थेरेपी से कोरोना वायरस को मिल रही है मात,:-पूर्व डीजीपी मैथलीशरण गुप्त

Coronavirus से घबराएं नहीं,दो बूंद नींबू का रस लें, पिएं हल्दी युक्त गुनगुना पानी :-पूर्व डीजीपी मैथिलीशरण गुप्त

कल से बदल जाएंगे कई नियम , आम आदमी की जेब और घर के बजट पर इसका सीधा असर