पत्रकार ओमप्रकाश भूर्तिया की निर्मम हत्या से पत्रकारों में भारी आक्रोश


लेड़ियारी,कोरांव/प्रयागराज(स्वतंत्र प्रयाग): एक तरफ जहां सरकार पत्रकारों के ऊपर हो रहे अत्याचारों के प्रति अत्याचारियों के ऊपर कठोर कार्यवाही का आश्वाशन दे रही है ,वही दूसरी तरफ आए दिन पत्रकारों के ऊपर हत्यारे लोग जान लेवा हमला कर पत्रकारों की निर्मम हत्या जैसी घटना को अंजाम दे रहे हैं, जिससे सिद्ध होता है कि सरकार द्वारा जारी गाइड लाइन से बेफिक्र हैं और सरकार के आदेशों, निर्देशों का कोई अस्तित्व नही रह गया है ।

5 जुलाई को खीरी थानांतर्गत डीही खुर्द ग्राम के निवासी एवं हिन्दी दैनिक समाचार पत्र के पत्रकार ओमप्रकाश भूर्तिया की मौत के मामले में पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हत्या की पुष्टि हो गई है। पत्रकार की मौत सिर में चोट के कारण हुई।


बता दें कि पत्रकार ओम प्रकाश भुर्तिया ग्राम पंचायत डीही खुर्द सोमवार शाम को अपने घर से लगभग 500 मीटर की दूरी पर अपने धान की नर्सरी की तरफ घूमने गये थे साथ ही उसी खेत की जुताई करने के लिए सोमवार की शाम वह अपने भतीजे के साथ गए थे। बारिश शुरू हुई तो भतीजा ट्रैक्टर लेकर घर वापस चला आया। कुछ देर बाद मोबाइल से बात करते ओम प्रकाश भी पैदल घर वापस लौट रहे थे। तभी पहले से घात लगाकर बैठे हत्यारों ने अचानक लाठी डंडे से पीट पीट कर उनकी हत्या कर दिया काफी देर तक घर न आने पर घर वालों ने पुकारते हुए पशुशाला एवं नर्सरी की तरफ गए तो देखा की पत्रकार ओम प्रकाश नहर के निकट बेहोश पड़े थे, घर वालों ने पुलिस को सूचना देते हुए, उन्हें लेकर आनन फानन मे प्रयागराज जीवन ज्योति अस्पताल व आनंद हास्पिटल गए जहा डाक्टरों ने मृत घोषित कर दिया मृत होने की सूचना मिलते ही परिवार में  मातम छा गया।

मृतक पत्रकार के घर जांच करने पहुंचे एसपी व एसडीएम

बुधवार को यमुनापार एसपी सौरभ दीक्षित व एसडीएम कोरांव घटना स्थल पर पहुंचकर मौका मुआयना भी किया है, उन्होंने पहले परिवार से मिलकर उन्हें सांत्वना दी और शासन स्तर से हरसंभव मदद एवं सुरक्षा  दिलाने का आश्वासन भी दिया है। सुरक्षा को लेकर उन्होंने कहा की यदि किसी भी प्रकार की धमकी या कोई समस्या आती है तो तत्काल मुझे या प्रशासन से जुड़े लोगों को सूचना दें। 

एसपी ने घटना के पहले वहां पर मौजूद लोगों और घटना के बाद की जानकारी देने वाले लोगों को बुलाकर स्वयं लंबी पूछताछ भी किया और उन्होंने घर वालों को आश्वासन भी दिया है कि पुलिस हर संभव प्रयास करके जल्द-से-जल्द आरोपियों को खोज निकालेंगी।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रधानमंत्री जी भारतीय आयुर्वेद चिकित्सा में,लेमन थेरेपी से कोरोना वायरस को मिल रही है मात,:-पूर्व डीजीपी मैथलीशरण गुप्त

Coronavirus से घबराएं नहीं,दो बूंद नींबू का रस लें, पिएं हल्दी युक्त गुनगुना पानी :-पूर्व डीजीपी मैथिलीशरण गुप्त

कल से बदल जाएंगे कई नियम , आम आदमी की जेब और घर के बजट पर इसका सीधा असर