एएनम आशा बहुओ और स्टाफ नर्सो को किया गया प्रशिक्षित

 

करछना,प्रयागराज: (स्वतंत्र प्रयाग): क्षेत्र के रामपुर स्थित जनहित अस्पताल परिसर में गुरुवार को सुरक्षित मातृत्व और प्रसव के संदर्भ में एक प्रशिक्षण कार्यक्रम का आयोजन किया गया।प्रशिक्षक के रूप में मौजूद डॉ.मीरा सिंघल ने बताया कि प्रायः प्रसवकाल के समय कई जरूरी बातों की अनदेखी करने से महिलाओं को परेशानी का सामना करना पड़ता है।

इस समय विशेष ध्यान देने की आवश्यकता होती है। जिससे जच्चा-बच्चा पूर्ण रूप से रोग रहित और स्वस्त रह सके।डॉ.उमा जायसवाल ने कहा कि गर्भकाल के दौरान प्रायः ग्रामीण क्षेत्र में महिलाएं इसके प्रति दिनचर्या और खान-पान में लापरवाही बरतती है।जिससे उनके और बच्चे के स्वास्थ पर बुरा प्रभाव पड़ता है।

प्रसव के समय अधिक रक्तश्राव से बढ सकता है खतरा

प्रसव के समय अधिक रक्तश्राव से खतरा भी बढ सकता है।इसके लिए सुरक्षित मातृत्व बहुत ही आवश्यक है।इसके लिए पोषण,ताजी हवा,पौष्टिक भोजन,हरी सब्जियां,स्वच्छ पानी,योग आदि चीजों पर ध्यान देना जरूरी है।

इस दौरान मौजूद स्वास्थकर्मियो को इसके संदर्भ में कई गुर सिखाये गये।संयोजक अधीक्षका डॉ.व्यंजना पाण्डेय ने प्रशिक्षक डॉक्टरों का स्वागत आभार प्रकट किया।इस मौके पर डॉ.निवेदिता सामंत,डॉ.मीनाक्षी केसरवानी समेत कई एएनम,आशा बहुए और बड़ी संख्या में स्टाफ नर्स मौजूद रही।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जिलाधिकारी ने विकास खण्ड करछना, मेजा एवं कोरांव में आयोजित गरीब कल्याण मेले में पहुंचकर विभिन्न विभागों के द्वारा लगाये गये स्टाॅलों का किया अवलोकन

विभिन्न आयु वर्गो हेतु चयन ट्रायल 15 अगस्त को

जिलाधिकारी ने थाना मऊ में समाधान दिवस के अवसर पर सुनी जनता की समस्यायें