एक ही परिवार के 5 आदिवासी कंकाल मिलने से क्षेत्र में मचा हड़कंप , 48 दिन पहले घर से गायब थे पांचों मृतक


मामले में 4 से 5 लोगों को पुलिस ने किया गिरफ्तार  

देवास/म.प्र.(स्वतंत्र प्रयाग) मध्य प्रदेश में देवास जिले के अंतिम छोर पर स्थित नेमावर में एक खेत से आदिवासी परिवार के पांच लोगों के नरकंकाल मिले हैं। शवों को खेत में 8-10 पीट गड्ढा कर दफनाया गया था। पुलिस के मुताबिक परिवार के पांचों सदस्य पिछले 48 दिनों से लापता थे। पुलिस ने मामले में 4-5 लोगों को हिरासत में लिया है। जिन लोगों के नरकंकाल मिले हैं, उनमें चार महिलाएं और एक बच्चा शामिल है। ये सभी 13 मई की रात को अपने घर से बिना बताए गायब हो गए थे। मंगलवार को इनके शव सुरेंद्र ठाकुर के खेत से बरामद किए गए।

नेमावर थाना के प्रभारी अविनाश सिंह सेंगर से मिली जानकारी के अनुसार कुछ दिन पहले ही आदिवासी समुदाय के एक परिवार के गायब होने की सूचना दर्ज की गई थी। लापता आदिवासी परिवार के पांचों लोगों के कंकाल 8 फीट गहरे गड्ढे में से निकाले गए हैं। उन्होंने जल्द ही पूरे मामले के खुलासे का दावा भी किया है।

जानकारी के मुताबिक मृतकों में शामिल एक युवती का गांव के एक दबंग के साथ प्रेम प्रसंग चल रहा था। युवती उस पर शादी के लिए दबाव बना रही थी। आशंका है कि राज छिपाने के लिए उसी ने पांचों की हत्या कर दी। पुलिस ने अभी नहीं बताया, लेकिन माना जा रहा है कि हत्याकांड के मुख्य आरोपी का पता पुलिस को चल चुका है।

पुलिस टीम का गठन कर होशंगाबाद, हरदा, खंडवा, चोरल, भोपाल, सिहोर तथा इंदौर के कई स्थानों पर सर्चिंग की गई। इस दौरान मुखबिर की सूचना पर संदेही सुरेंद्र राजपूत से कड़ाई से पूछताछ की गई तो वह टूट गया और उसने पुलिस को बताया कि रूपाली उसकी प्रेमिका थी। रूपाली के द्वारा मंगेतर दिव्यांशी के विरूद्ध इंटाग्राम पर गलत पोस्ट करने तथा शादी के लिए दबाव डालने से क्षुब्ध होकर सुरेंद्र ने भाई वीरेंद्र राजपूत तथा विवेक तिवारी, राजकुमार, मनोज कोरकू, करण कोरकू के साथ मिलकर रूपाली और उसके स्वजनों की हत्या कर शवों को अपने खेत के किनारे बने 12 फीट के गड्ढे में दबा दिया तथा रूपाली का मोबाइल खंडवा में रहने वाले साथी राकेश निमौरे को देकर विभिन्न दिनांकों में अलग-अलग जगह से इंस्टाग्राम पर पोस्ट डालकर पुलिस को भ्रमित करने का प्रयास किया।

घटना में शामिल सभी सातों आरोपित सुरेंद्र राजपूत, वीरेंद्र राजपूत, विवेक तिवारी, राजकुमार, मनोज कोरकू, करण कोरकू तथा राकेश निमौरे को गिरफ्तार कर लिया गया है। एसपी ने आरोपितों को गिरफ्तार करने में आप शामिल पुलिस टीम को पुरस्कृत करने की घोषणा की है।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रधानमंत्री जी भारतीय आयुर्वेद चिकित्सा में,लेमन थेरेपी से कोरोना वायरस को मिल रही है मात,:-पूर्व डीजीपी मैथलीशरण गुप्त

Coronavirus से घबराएं नहीं,दो बूंद नींबू का रस लें, पिएं हल्दी युक्त गुनगुना पानी :-पूर्व डीजीपी मैथिलीशरण गुप्त

कल से बदल जाएंगे कई नियम , आम आदमी की जेब और घर के बजट पर इसका सीधा असर