अवंतिका कॉलोनी नैनी की समस्यायों से लोग हलाकान

दो पाटो के बीच अधर मे लटका विकास 

नैनी, प्रयागराज(स्वतंत्र प्रयाग)नैनी में लगभग तीन दशक पूर्व प्रयागराज विकास प्राधिकरण द्वारा नवनिर्मित अवंतिका कॉलोनी नैनी के निवासी वर्षों से विकास की बाट जोह रहे है, लेकिन प्रशासनिक उपेक्षा की शिकार यह कॉलोनी अभी भी दो पाटो के बीच अधर में लटकी हुई है।

ज्ञातव्य है कि तीस वर्ष से रह रहे कॉलोनी के आवंटी तमाम मौलिक सुविधाओं के लिए तरसते रहे तथा समय समय पर शासन प्रशासन से गुहार लगाते रहे परन्तु जनप्रतिनिधि लंबे लंबे वादा कर वोट तो झटकते रहे लेकिन जन सुविधाओं की ओर किसी का ध्यान नहीं जाता रहा। काफी अथक प्रयास के बाद एक वर्ष पूर्व प्रयागराज विकास प्राधिकरण द्वारा इस कॉलोनी को नगर निगम में हस्तांतरित तो कर दिया गया परंतु निगम अधिकारियों का कहना है कि प्राधिकरण द्वारा शर्तों के अनुसार निश्चित धनराशि अभी तक नगर निगम के खाते में स्थानांतरित नहीं की गयी है जिससे विकास कार्य शुरू कराने में विलंब हो रहा है। हालांकि कारण कुछ भी हो परंतु यहां के निवासियों को मौलिक सुविधाओं के अभाव में घोर कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। जगह-जगह क्षतिग्रस्त सीवर लाइनें, टूटी फूटी नालियां, खराब सड़कें व गलियां आखिरी सास ले रही है। कम दबाव मे हो रहे पेयजल की आपूर्ति घरों तक न पहुंचने के कारण पानी बिल के साथ ही मोटर व बिजली का दोहरा दंड भी लोगों को भरना पड़ रहा है। वर्षों से बुझी हुई स्ट्रीट लाइटें ठीक कराने को कोई तैयार नही। कूड़ा उठाने एवं सफाई की पर्याप्त व्यवस्था के अभाव मे लोग गन्दगी व मच्छर के कारण अक्सर लोग रोगो से ग्रसित होते रहते है तथा कुछ भयाक्रांत रहते हुए तमाम परेशानियों का सामना कर रहे है। 


फिलहाल अवंतिका विकास समिति के माध्यम से स्थानीय नागरिकों ने शासन प्रशासन को अपनी समस्याओं से अवगत करा दिया है। अगर इस ओर ध्यान न दिया गया तो आने वाले समय में लोग एकजुट होकर आगे की कार्यवाही करने का स्वयं निर्णय लेने को बाध्य होगें।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रधानमंत्री जी भारतीय आयुर्वेद चिकित्सा में,लेमन थेरेपी से कोरोना वायरस को मिल रही है मात,:-पूर्व डीजीपी मैथलीशरण गुप्त

Coronavirus से घबराएं नहीं,दो बूंद नींबू का रस लें, पिएं हल्दी युक्त गुनगुना पानी :-पूर्व डीजीपी मैथिलीशरण गुप्त

कल से बदल जाएंगे कई नियम , आम आदमी की जेब और घर के बजट पर इसका सीधा असर