लाल तारा पावर हाउस का चार दिन से जला ट्रांसफार्मर कई दर्जन गांव अंधेरे में

 

उमस भरी गर्मी से लोगों का जीना मुहाल, खेत में पेयजल किल्लत से मचा हाहाकार

कोरांव/प्रयागराज(स्वतंत्र प्रयाग)लालतारा पावर हाउस का पिछले 4 दिनों से ट्रांसफार्मर जला पड़ा है। लालतारा फीडर के अंतर्गत आने वाले कई दर्जन गांवों में छाया हुआ है। किन्तु विभाग मामले को लेकर उदासीन बना हुआ है। जिससे इस उमस भरी गर्मी में लोगों का जीना मुहाल हो गया है। वहीं क्षेत्र में पीने के पानी के लिए भी हाहाकार मचा है। क्षेत्रीय उपभोक्ताओं की बातों पर अगर गौर किया जाए तो उक्त फीडर का जेई कभी लोगों का फोन नहीं उठाता है। चाहे फाल्ट हो अथवा ट्रांसफार्मर खराब हो या अन्य समस्या हो या घटना दुर्घटना हो किसी भी मामले को लेकर फोन नहीं उठता है। जिससे लोगों में रोष भी देखा जा रहा है। 4 दिन से हजारों घरों के अंधेरे में रह रहे लोगों ने जिलाधिकारी प्रयागराज का ध्यान आकृष्ट कराते हुए शीघ्र लालतारा पावर हाउस के जले ट्रांसफार्मर को बदलवाने की मांग की है। ग्रामीणों ने कहा है कि अगर कल तक जले हुए ट्रांसफार्मर को बदलवाया नहीं गया और क्षेत्र की बिजली आपूर्ति बहाल नहीं की गई तो सभी ग्रामवासी एकजुट होकर बिजली अधिकारियों के खिलाफ आंदोलन के लिए बाध्य होंगे। जिसकी पूरी पूरी जिम्मेदारी जिला प्रशासन अथवा विद्युत विभाग की होगी। पिछले 4 दिन से बिजली चालित संयंत्र भी पूरी तरीके से ठप पड़े हैं। जिससे जहां लोगों के कारोबार प्रभावित हो रहे हैं। वहीं पीने के पानी के लिए भी लोगों को काफी दूर-दूर तक भटकना पड़ रहा है। ग्रामीण उपभोक्ताओं के मुताबिक किसानों की नर्सरी भी बिजली न आने के कारण नहीं पड़ पा रही है ऐसे में किसानों की नर्सरी भी लेट हो रही है। जले हुए ट्रांसफार्मर को न बदलवाने से किसानों में भी आक्रोश देखा जा रहा। उपभोक्ताओं के द्वारा उच्च स्तरीय शिकायत भी की जा चुकी है। इसके बावजूद भी विभाग उदासीन बना हुआ है जिससे ग्रामीण आक्रोशित हैं।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

सरायइनायत में सराफा की दुकान से लाखों की लूट, दुकान खुलते ही चार पांच की संख्या में पहुंचे लुटेरों ने दिया घटना को अंजाम

जिलाधिकारी ने विकास खण्ड करछना, मेजा एवं कोरांव में आयोजित गरीब कल्याण मेले में पहुंचकर विभिन्न विभागों के द्वारा लगाये गये स्टाॅलों का किया अवलोकन

विभिन्न आयु वर्गो हेतु चयन ट्रायल 15 अगस्त को