आवास जांच को पहुंचे ग्राम पंचायत अधिकारी व जेई का ग्रामीणों ने किया विरोध

 


ग्राम प्रधान ने कोविड-19 टीकाकरण में अवरोध उत्पन्न का लगाया आरोप 

घूरपुर/प्रयागराज (स्वतंत्र प्रयाग)विकासखंड कौंधियारा के अंतर्गत घूरपुर क्षेत्र के ग्राम सभा बरौली में बुधवार के दिन कोविड-19 का टीकाकरण शिविर लगा था। शिविर में ग्रामीणों का टीकाकरण चल रहा था। उसी दौरान ग्राम पंचायत अधिकारी नील कृष्ण प्रजापतिव और जेई आरएस पांडेय पहुंच गए। आवास की जांच को लेकर ग्रामीण बिफर गए और नोकझोक होने लगी। काफी विवाद बढ़ गया। चारों तरफ से ग्रामीणों ने ग्राम पंचायत अधिकारी व जेई घेर लिया। ग्रामीणों ने पूर्व ग्राम प्रधान की मिलीभगत से काम करने का आरोप लगाया और ग्राम पंचायत अधिकारी को तत्काल गांव से हटाए जाने की मांग की है। 

 ग्राम प्रधान सविता ने बताया कि अभी नई लिस्ट आई है। अभी किसी को आवास दिए भी नहीं गए हैं। पुराने लिस्ट से आवास दिए गए और इसकी जांच करने को यह सब मिलीभगत से गांव आ गए। इस पर ग्रामीणों ने विरोध किया और इन लोगों को तत्काल गांव से हटाए जाने की मांग की है। कोविड 19 टीकाकरण में अवरोध व व्यवधान उत्पन्न के आरोप में ग्राम पंचायत अधिकारी व जेई खिलाफ विकास खंड अधिकारी कौंधियारा को प्रार्थना पत्र की गई है। 

कई वर्षों से तैनात ग्राम पंचायत अधिकारी को हटाने की मांग 

विकासखंड कौंधियारा के ग्राम पंचायत अधिकारी कृष्ण प्रजापति कई ग्राम सभाओं में ग्राम पंचायत अधिकारी के पद पर कई वर्षों से कार्य कर रहे हैं। जिसकी कई बार शिकायतें भी सामने आई है। ग्राम प्रधान बरौली सविता ने बताया कि कृष्ण प्रजापति का कार्यकाल गड़बड़ियों से भरा हुआ है। और उन्हें अब ग्रामीण गांव में देखना नहीं पसंद करते हैं। इसलिए गांव से उन्हें हटाने की मांग की है। ग्राम सभा बरौली, करमा, पंवर, पंवरी कई वर्षों से तैनात है ग्राम पंचायत अधिकारी।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रधानमंत्री जी भारतीय आयुर्वेद चिकित्सा में,लेमन थेरेपी से कोरोना वायरस को मिल रही है मात,:-पूर्व डीजीपी मैथलीशरण गुप्त

Coronavirus से घबराएं नहीं,दो बूंद नींबू का रस लें, पिएं हल्दी युक्त गुनगुना पानी :-पूर्व डीजीपी मैथिलीशरण गुप्त

कल से बदल जाएंगे कई नियम , आम आदमी की जेब और घर के बजट पर इसका सीधा असर