जिला बृक्षारोपण समिति, जिला पर्यावरण समिति, गंगा समिति एवं वन बन्दोवस्त समिति की बैठक संपन्न

 

कौशाम्बी(स्वतंत्र प्रयाग)जिलाधिकारी सुजीत कुमार की अध्यक्षता में बृहस्पतिवार को कलेक्ट्रेट स्थित सम्राट उदयन सभागार में जिला बृक्षारोपण समिति, जिला पर्यावरण समिति गंगा समिति एवं वन बन्दोवस्त समिति की बैठक आयोजित की गयी। बैठक में जिलाधिकारी ने बृक्षारोपण हेतु खोदे गये गड्ढो की प्रगति के सम्बन्ध में संबंधित विभागों के अधिकारियों से जानकारी प्राप्त की। उन्होंने खोदे गये गड्ढ़ों की 05 जुलाई तक जियो टैगिंग कराये जाने का निर्देश दिया है। कहा कि पौधे के रोपण के साथ-साथ उनका संरक्षण भी आवश्यक है। जिलाधिकारी ने लक्ष्य के सापेक्ष 21,48,996 पौधों का रोपण कराये जाने का निर्देश संबंधित विभागों के अधिकारियों को दिया है, कहा कि इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही या उदाशीनता क्षम्य नहीं होगी। जिलाधिकारी ने समस्त खण्ड विकास अधिकारियों एवं अधिशासी अधिकारी, पंचायती राज विभाग, पीडब्ल्यूडी, कृषि विभाग एवं सिचाई विभाग सहित अन्य संबंधित विभागों को निर्देशित करते हुए कहा है कि वे अपने-अपने क्षेत्रों में लक्ष्य के सापेक्ष बृक्षारोपण के कार्य को पूर्ण कराते हुए उसकी सूचना उपलब्ध करायें। जिलाधिकारी ने कहा कि बृक्षारोपण पर्यावरण के सन्तुलन को बनाये रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है, इससे वर्षा होने में मदद तथा वातावरण में घुले हुये कार्बनडाई आक्साइड गैसों सहित अन्य गैसों से हमारे जीवन पर पड़ने वाले दुष्प्रभाओं से भी बचाते है। साथ ही साथ प्राणवायु आक्सीजन का उत्सर्जन करते है। बृक्षो से अनेक प्रकार की जड़ी बूटियां भी प्राप्त होती है जो मनुष्य के जीवन में काम आती है। उन्होंने कहा कि वृक्ष धरा के आभूषण होते है, वृक्ष वातावरण को शुद्ध बनाये रहते है। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी शशिकांत त्रिपाठी, अपर जिलाधिकारी मनोज, प्रभागीय वनाधिकारी, परियोजना निदेशक, जिला विकास अधिकारी, समस्त खण्ड विकास अधिकारी एवं समस्त अधिशासी अधिकारी सहित अन्य संबंधित विभागों के अधिकारीगण उपस्थित रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रधानमंत्री जी भारतीय आयुर्वेद चिकित्सा में,लेमन थेरेपी से कोरोना वायरस को मिल रही है मात,:-पूर्व डीजीपी मैथलीशरण गुप्त

Coronavirus से घबराएं नहीं,दो बूंद नींबू का रस लें, पिएं हल्दी युक्त गुनगुना पानी :-पूर्व डीजीपी मैथिलीशरण गुप्त

कल से बदल जाएंगे कई नियम , आम आदमी की जेब और घर के बजट पर इसका सीधा असर