अधिवक्ताओं की हड़ताल के समर्थन में कूदे प्रधान और किसान , मांगों को लेकर शुक्रवार को भी न्यायिक कार्य से विरत रहे अधिवक्ता

 


कौशांबी(स्वतंत्र प्रयाग) विभिन्न मांगों को लेकर कई दिनों से अधिवक्ताओं की हड़ताल चल रही है अधिवक्ता न्यायिक कार्य से विरत रह रहे हैं अधिवक्ताओं के मांगों के समर्थन में स्वामी समर्थ किसान मंच और प्रधान संघ ने भी हड़ताल में शामिल होने की घोषणा की है स्वामी समर्थ किसान मंच और प्रधान संघ ने पत्र भेजकर अधिवक्ता संघ के अध्यक्ष को सूचित किया कि अधिवक्ताओं के इस संघर्ष में वह कदम से कदम मिलाकर उनके साथ चलने को तैयार हैं किसान और प्रधानों का समर्थन मिल जाने के बाद अधिवक्ताओं का मनोबल दूना हो गया है और यह संघर्ष लंबा चल सकता है 

विभिन्न मांगों को लेकर शुक्रवार को फिर कचहरी परिसर में अधिवक्ता एकत्रित हुए और अधिवक्ताओं ने बैठक कर न्यायिक कार्य से विरत रहने का निर्णय लिया है अधिवक्ताओं के समर्थन में प्रधान संघ के अध्यक्ष ने समर्थन पत्र सौंपा है वही समर्थ किसान मंच ने भी आज अधिवक्ताओं को समर्थन देने का ऐलान किया है नकल लेने पर शुल्क बढ़ाए जाने के विरोध में जिला कचहरी के अधिवक्ता आक्रोशित है और कई दिनों से चल रही अधिवक्ताओं की हड़ताल में अन्य अधिवक्ताओं और समाज के अन्य लोगों का का भी लगातार समर्थन मिल रहा है 

जनपद मुख्यालय में मॉडल डिस्ट्रिक्ट बार एसोसिएशन के अध्यक्ष मनुदेव त्रिपाठी की अध्यक्षता में अधिवक्ताओं की बैठक शुक्रवार को कचहरी परिसर में सम्पन्न हुई कचहरी परिसर में आयोजित बैठक में नकल शुल्क बढ़ाए जाने का अधिवक्ताओं ने विरोध किया अधिवक्ताओं ने कहा कि जब तक नकल शुल्क वापस नहीं लिया जाता है तब तक अधिवक्ता हड़ताल पर रहेंगे नकल शुल्क बढ़ाए जाने के निर्णय को यदि जल्द वापस नहीं लिया गया तो आक्रोशित अधिवक्ताओं का आंदोलन लंबा खिंच सकता है बताते चलें कि आसपास के जनपदों में नकल शुल्क नहीं बढ़ाया गए हैं लेकिन कौशांबी में कई गुना नकल शुल्क बढ़ा दिया गया है जनपद न्यायालय में नकल लेने में शुल्क बढ़ाए जाने के मामले को लेकर अधिवक्ताओं ने विरोध किया है शुल्क बढ़ाए जाने के बाद से अधिवक्ता लगातार कई दिनों से हड़ताल पर हैं बैठक में उपस्थित अधिवक्ताओं ने कहा है कि जब तक जनपद न्यायालय में बढ़ाया गया नकल शुल्क वापस नहीं लिया जाता तब तक अधिवक्ता हड़ताल पर रहेंगे बताते चलें कि वर्ष 2016 में जनपद न्यायालय में पांच रुपये और दस रुपए के टिकट पर नकल मिल जाती थी लेकिन वर्ष 2016 में ही पांच रुपये के टिकट की जगह 50 रुपये और 10 रुपये के टिकट की जगह 100 रुपये के टिकट लगाए जाने का निर्देश दिया था जिसे अधिवक्ताओं ने विरोध किया था और यह आदेश वर्ष 2016 में लागू नहीं हो सका 6 वर्ष पूर्व किए गए इस आदेश को 15 जून को लागू कर दिया गया जिससे अब वाद कारियो को नकल लेने में 10 गुना शुल्क अदा करना होगा इस शुल्क का अधिवक्ता लगातार विरोध कर रहे है वाद कारियो के हितों को ध्यान में रखकर अधिवक्ता प्रतिदिन जनपद न्यायालय परिसर में मीटिंग कर न्यायिक कार्य से विरत रहने का फैसला ले रहे हैं गुरुवार को फिर अधिवक्ताओं की कचहरी परिसर में मीटिंग हुई है और एक सुर से न्यायिक कार्य से विरत रहने का निर्णय लिया गया

 अधिवक्ताओं की मांग है कि जब तक बढ़ा हुआ नकल शुल्क वापस नहीं लिया जाता तब तक अधिवक्ता न्यायिक कार्य से विरत रहेंगे बैठक के दौरान एसोसिएशन के पूर्व अध्यक्ष नारायण मिश्रा अध्यक्ष मनुदेव त्रिपाठी पूर्व महामंत्री लक्ष्मीकांत त्रिपाठी महामंत्री तुषार तिवारी विकास मिश्रा अजय पांडेय ओमदेव त्रिपाठी ब्राम्ही भूषण मिश्रा सुरेंद्र कुमार अंकित त्रिपाठी सुनील मिश्रा वेदप्रकाश मिश्रा सत्यनारायण यादव राकेश जयसवाल अरविंद सिंह दीपक मिश्रा जाम वाले रविंद्र प्रताप सिंह रामसुहावन शुक्ला,राजेश शुक्ल, केडी द्विवेदी शशीप्रताप त्रिपाठी शेष कुमार अजय सिंह, आफताब मेंहदी,इनामुल हक,केके यादव,दिलीप पाण्डेय सहित भारी संख्या में अधिवक्ता मौजूद रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रधानमंत्री जी भारतीय आयुर्वेद चिकित्सा में,लेमन थेरेपी से कोरोना वायरस को मिल रही है मात,:-पूर्व डीजीपी मैथलीशरण गुप्त

Coronavirus से घबराएं नहीं,दो बूंद नींबू का रस लें, पिएं हल्दी युक्त गुनगुना पानी :-पूर्व डीजीपी मैथिलीशरण गुप्त

कल से बदल जाएंगे कई नियम , आम आदमी की जेब और घर के बजट पर इसका सीधा असर