लगातार बारिश के कारण जमींदोज होने की स्थिति में हैं गरीबों के आशियानें

  

 कौशाम्बी ब्यूरो:( स्वतंत्र प्रयाग): कोरोना काल में लगे अनेकों प्रतिबंधों के कारण जहां मजदूर व गरीब तबके के लोग दिन भर काम करके बच्चों के लिए दो वक्त की रोटी का जुगाड़ कर पाना टेढ़ी खीर साबित हो रहा है। वहीं तीन दिनों से हो रही बारिश के कारण गरीबों के कच्चे आशियानों में भी संकट के बादल मंडराने का सिलसिला भी प्रारम्भ हो चुका है। मिली जानकारी के मुताबिक मूरतगंज ब्लॉक अंतर्गत ग्रामसभा अरई सुमेरपुर के मजरा बेड़ियन का पूरा में अपने पांच छोटे बच्चों के साथ मेहनत मजदूरी करके जीवनयापन करने वाले जवाहरलाल पुत्र स्व• बाजबहादुर की वास्तविक स्थिति भी कुछ यही हो गयी है। जवाहरलाल के सामने अब बच्चों का पेट भरने या फिर बच्चों के लिए छत का इंतजाम करने की चुनौतीपूर्ण स्थिति है। जहाँ केन्द्र एवं राज्य सरकार ने गरीबों के लिए पक्की छत देने की मुहिम चला रखी है, वहीं जवाहरलाल जैसे पात्र लोग सिस्टम की कुछ कमियों के कारण सरकारी लाभ से वंचित हैं।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

पुरा छात्र एवं विंध्य गौरव ख्याति समारोह बड़े शानोशौकत से हुआ सम्पन्न

प्रयागराज में युवक की जघन्य हत्या कर शव को शिव मंदिर के समीप फेंका , पुलिस ने शव को लिया अपने कब्जे में

विधालय का ताला तोड़कर चोरों ने हजारों का सामान किया चोरी