विश्व संवाद परिषद योग को घर-घर पहुचाने को प्रतिबद्व- डाँ चन्द्रा


नैनी, प्रयागराज(स्वतंत्र प्रयाग) अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस पर विश्व संवाद परिषद, योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा प्रकोष्ठ के राष्ट्रीय अध्यक्ष योगाचार्य डॉ रमेश चंद्रा के अनुसार अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर देश दुनिया के लाखों लोगों में योग के माध्यम से इम्यूनिटी बढ़ाने हेतु विश्व संवाद परिषद द्वारा समूचे भारतवर्ष में अनेक आयोजन शारीरिक दूरी का पालन करते हुये योग प्रशिक्षण आयोजित किये जायेंगे। 

योग प्राकृतिक चिकित्सा प्रकोष्ठ के राष्ट्रीय अध्यक्ष योगाचार्य डॉ चंद्रा ने बताया कि घर घर तक योग को पहुँचाने को हम प्रतिबद्ध हैं। विश्व संवाद परिषद कई देश- दुनिया का प्राकृतिक चिकित्सा- योग क्षेत्र में सबसे बड़ा संगठन बन गया है। उन्होंने बताया कि इस अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर हम 21 जून को प्रातः साढ़े छह बजे से साढ़े सात बजे के बीच एक घंटे के प्रसारण के माध्यम से देश भर के 26 राज्यों के 400 जिलों के लगभग दस हजार जिला व ब्लॉक समन्वयकों द्वारा न्यूनतम पाँच लाख परिवारों को ऑनलाईन फेसबुक लाइव राष्ट्रीय योग प्रतियोगिता में जोड़कर घर- घर तक योग को पहुंचाने को प्रयासरत हैं। 

राष्ट्रीय महासचिव डॉ नवीन सिंह ने बताया कि इस वर्ष कोरोना महामारी के कारण एवं शारीरिक दूरी को ध्यान में रखते हुए योग दिवस का आयोजन परिषद के फेसबुक पेज पर लाइव के माध्यम से कराने का निर्णय लिया गया है। 

राष्ट्रीय महासचिव प्रो. नवीन योगी ने बताया कि परिषद योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा प्रकोष्ठ द्वारा प्रति वर्ष 26 राज्यों के लगभग 400 जिलों में योग सप्ताह का आयोजन वर्ष 2018 से निरंतर किया जाता रहा है, जिसमें लाखों लोगों को प्रतिवर्ष कॉमन योग प्रोटोकॉल का अभ्यास कराया जाता रहा और इस वर्ष भी योग दिवस पर फेसबुक लाइव के माध्यम से राष्ट्रीय योग प्रतियोगिता का आयोजन करके देशवासियों को घर-घर तक योग से जोड़ने का निर्णय लिया गया है। प्रो. नवीन योगी ने बताया कि राष्ट्रीय अध्यक्ष के नेतृत्व में अंतरराष्ट्रीय योग दिवस- 2021 को ऑनलाइन आयोजित करने की तैयारी कर ली गई है। अंतरराष्ट्रीय योग दिवस-2021 की थीम “योग अपनाओ इम्यूनिटी बढ़ाओ” रखी गई है। योगाचार्य डॉ रमेश ने बताया कि योग हमारे जीवन में महत्वपूर्ण है,योग हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाता है। योग शारीरिक, मानसिक एवं आध्यात्मिक रूप से स्वस्थ बनाने में सहायक है। उन्होंने बताया कि विश्व संवाद परिषद के अंतरराष्ट्रीय अध्यक्ष व संस्थापक डॉ श्याम पचौरी की प्रेरणा से तथा राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ रमेश चन्द्रा एवं राष्ट्रीय महासचिव प्रो.डॉ नवीन सिंह , दिल्ली के प्रदेश अध्यक्ष प्रो. अखिलेश सिंह, महासचिव डॉ वंदना त्यागी, उत्तराखंड की अध्यक्षा डॉक्टर सरस्वती काला एवं प्रदेश महामंत्री डॉ विनोद नौटियाल ,उत्तर प्रदेश अध्यक्षा प्रोफेसर अर्चना दुबे एवं प्रदेश महासचिव योगाचार्य डॉ एल.के.रॉय के कुशल मार्गदर्शन में आज से लगभग अठारह वर्ष पूर्व प्राकृतिक चिकित्सा एवं योग पद्धति के सतत् विकास हेतु अंतरराष्ट्रीय प्राकृतिक चिकित्सा संगठन व विश्व संवाद परिषद, प्राकृतिक चिकित्सा एवं योग के विकास एवं प्रचार प्रसार हेतु निरंतर प्रयासरत है

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रधानमंत्री जी भारतीय आयुर्वेद चिकित्सा में,लेमन थेरेपी से कोरोना वायरस को मिल रही है मात,:-पूर्व डीजीपी मैथलीशरण गुप्त

Coronavirus से घबराएं नहीं,दो बूंद नींबू का रस लें, पिएं हल्दी युक्त गुनगुना पानी :-पूर्व डीजीपी मैथिलीशरण गुप्त

कल से बदल जाएंगे कई नियम , आम आदमी की जेब और घर के बजट पर इसका सीधा असर