शासन द्वारा निर्धारित समय सीमा के अन्तर्गत कार्य पूर्ण कराया जाय- जिलाधिकारी


उत्तम शुक्ला

  चित्रकूट (स्वतंत्र प्रयाग) जिलाधिकारी शुभ्रान्त कुमार शुक्ल की अध्यक्षता में शासन द्वारा निर्धारित विकास प्राथमिकता कार्यक्रमों के शासन द्वारा मूल्यांकन न किए जाने वाले प्रपत्रों एवं समस्त कार्यदायी संस्थाओं के साथ एक बैठक कलेक्ट्रेट सभागार में संपन्न हुई। जिलाधिकारी ने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए सड़कों के निर्माण कार्य में तेजी लाई जाए। जिन सड़कों के लिए अभी तक धनराशि अवमुक्त शासन से नहीं हुई है, उसके लिए पत्राचार किया जाए। बेड़ी पुलिया से रामघाट की तरफ रोड में वृक्षारोपण कराया जाए। जो सड़क अधूरी है, उसे तत्काल पूर्ण करें। बीच के डिवाइडर को साफ़ स्वच्छ रखा जाए। चित्रकूट तीर्थ क्षेत्र के जितने भी चौराहे हैं, उनका सुंदरीकरण भी कराया जाए। कर्वी देवांगना मार्ग का कार्य भी तत्काल पूर्ण करें। सड़कों के गड्ढा मुक्ति का भी कार्य कराया जाए। सेतुओ के निर्माण कार्यों की समीक्षा पर कार्यदाई संस्था के अधिकारियों को निर्देश दिए कि जो भी कार्य कराए जाए, उसमें गुणवत्ता का अवश्य ध्यान दिया जाए। जो शासन से समय सीमा निर्धारित की गई उसी के अनुसार कार्यों को पूर्ण कराएं तथा पहुंच मार्ग के भी कार्य साथ ही साथ पूर्ण करा दिए जाएं। चिकित्सकों की उपलब्धता पर अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी तथा मुख्य चिकित्सा अधीक्षक को निर्देश दिए कि संविदा के माध्यम से चिकित्सकों के रखने की व्यवस्था कराएं और स्वास्थ्य केंद्रों का लगातार निरीक्षण कर व्यवस्थाओं को देखें। कहीं पर दवा आदि की कोई कमी नहीं होना चाहिए। राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम पर कहा कि आरबीएसके की टीम को लगाकर गांव गांव संचारी रोग दस्तक अभियान के साथ साथ बच्चों का शिक्षा विभाग व बाल विकास विभाग से संपर्क करके बच्चों के घरों में स्वास्थ्य परीक्षण किया जाए। कहा कि यह जनपद नीति आयोग में चयनित है। स्वास्थ्य विभाग तथा बाल विकास विभाग कार्यों पर तेजी लाएं। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र मानिकपुर में सिजेरियन का कार्य किया जाए। जिस चिकित्सक की ड्यूटी लगाई गई है, वह वहां पर जाकर कार्य करें। एंबुलेंस संचालन की व्यवस्था को ठीक कराया जाए। अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी से कहा कि अगर वह सही से कार्य नहीं कर रहे हैं तो इनके खिलाफ शासन को पत्र भेजा जाए।जिला अस्पताल में एंबुलेंस की व्यवस्था प्रत्येक दशा में सुनिश्चित कराई जाए। मुझे किसी भी प्रकार की समस्या नहीं मिलना चाहिए नहीं तो मैं आप लोगों के खिलाफ कार्यवाही करूंगा। उन्होंने राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन, जननी सुरक्षा योजना, मातृत्व वंदना योजना, डाटा फीडिंग,सैम मैम बच्चों, गर्भवती महिलाओं, परिवार कल्याण, टीकाकरण, पेंशन योजनाएं, आधार सीडिंग व फीडिंग,एम एस एम ई,अवस्थापना औद्योगिक विकास आदि विभिन्न योजनाओं के बारे में जानकारी की। तत्पश्चात जिलाधिकारी ने कोविड-19 की रोकथाम एवं बचाव से संबंधित बैठक की।

                   बैठक में मुख्य विकास अधिकारी अमित आसेरी, जिला विकास अधिकारी आरके त्रिपाठी, अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर इम्तियाज, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डॉ आर के गुप्ता, जिला उद्यान अधिकारी डॉ रमेश कुमार पाठक, जिला प्रोबेशन अधिकारी राम बाबू विश्वकर्मा, जिला समाज कल्याण अधिकारी डॉक्टर नीलम सिंह, जिला दिव्यांगजन अधिकारी राजेश नायक, जिला विद्यालय निरीक्षक बालिराज राम, अधिशासी अभियंता लोक निर्माण विभाग अरविंद कुमार, जिला अर्थ एवं संख्या अधिकारी सरिता सिंह सहित संबंधित कार्यदाई संस्थाओं के अधिकारी मौजूद रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रयागराज में युवक की जघन्य हत्या कर शव को शिव मंदिर के समीप फेंका , पुलिस ने शव को लिया अपने कब्जे में

पुरा छात्र एवं विंध्य गौरव ख्याति समारोह बड़े शानोशौकत से हुआ सम्पन्न