6 साल की बच्ची को समय पर पानी न मिलने पर हुई मौत , उत्तर भारत में बढ़ रहा गर्मी का कहर


जालौर/राजस्थान (स्वतंत्र प्रयाग)-उत्तर भारत में गर्मी का कहर शुरू हो गया है। आसमान से बरसती आग ने सबको परेशान किया हुआ है। राजस्थान के जालाैर में घटी एक दर्दनाक घटना ने पूरी इंसानियत का सिर शर्म से झुका दिया। यहां तपती धूप में सफर कर रही 6 साल की बच्ची की सिर्फ इसलिए माैत हो गई क्योंकि उसे इस भीषण गर्मी में पीने के लिए पानी नहीं मिला। बच्ची के साथ उसकी नानी सफर कर रही थी वो भी बेहोश हो गई। यहां 45 डिग्री का तापमान था और गर्म टीलों पर सफर हो रहा था, जब ग्रामीणों को इनका पता लगा तो उन्होंने पुलिस को सूचित किया।

रानीवाड़ा तहसील अंतर्गत डूंगरी निवासी वृद्ध महिला सुखीदेवी का सिरोही जिले के मंडार के समीप रायपुर में मायका है। सुखीदेवी अपनी पांच वर्षीय नातिन (दोहिती) के साथ पीहर गई थी। रविवार 6 जून को सुबह मौसम ठंडा देखकर पांच वर्षीय नातिन के साथ वापस बहन के पास जाने के लिए पैदल ही रवाना हो गई। करीब दस बारह किलोमीटर की दूरी तय कर ली थी, इस दौरान दोपहर में तापमान पारा बढ़ गया था और मौसम उमस भरा हो गया था। वृद्धा के पास पानी की बोतल भी नहीं थी और जिस मार्ग से गुजर रही थी, वह भी रेतीला कच्चा मार्ग था। तेज गर्मी के कारण और पानी नहीं मिलने से वृद्धा और बच्ची को डिहाइड्रेशन की समस्या हो गई । दोनों बेहोश होकर गिर पड़े। काफी देर बाद वहां किसी चरवाहे ने महिला को देखा तो सूरजवाड़ा सरपंच कृष्णकुमार पुरोहित को फोन किया। बाद में पुलिस भी मौके पर पहुंची, लेकिन तब तक बच्ची का दम टूट चुका था।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रधानमंत्री जी भारतीय आयुर्वेद चिकित्सा में,लेमन थेरेपी से कोरोना वायरस को मिल रही है मात,:-पूर्व डीजीपी मैथलीशरण गुप्त

Coronavirus से घबराएं नहीं,दो बूंद नींबू का रस लें, पिएं हल्दी युक्त गुनगुना पानी :-पूर्व डीजीपी मैथिलीशरण गुप्त

कल से बदल जाएंगे कई नियम , आम आदमी की जेब और घर के बजट पर इसका सीधा असर