जिलाधिकारी की अध्यक्षता में कोविड-19 सम्बन्धी समीक्षा बैठक सम्पन्न

 


        

चित्रकूट (स्वतंत्र प्रयाग) प्रदेश के मुख्यमंत्री जी के निर्देशानुसार संचारी रोगों तथा दिमागी बुखारों पर प्रभावी नियंत्रण व इनके त्वरित सुचारू इलाज हेतु जिलाधिकारी शुभ्रान्त कुमार शुक्ल की अध्यक्षता में कलेक्ट्रेट सभागार में सम्बन्धित अधिकारियों के साथ बैठक सम्पन्न हुई। जिसमें 01 जुलाई 2021 से 31 जुलाई 2021 तक चलने वाले विशेष संचारी रोग नियंत्रण एवं 12 जुलाई 2021 से 25 जुलाई 2021 तक चलने वाले दस्तक अभियान व संचारी रोगों एवं दिमागी बुखार के प्रभावी नियंत्रण व कार्यवाही हेतु द्वितीय अन्तर्विभागीय बैठक सम्पन्न हुई। जिलाधिकारी ने निर्देश दिया कि सम्बन्धित विभागों के अधिकारी संचारी रोग नियंत्रण हेतु अपने विभागों द्वारा संपादित की जाने वाली गतिविधियों को बेहतर ढंग से संचालन करें। उन्होने यह भी कहा कि इस दौरान स्वच्छता, साफ-सफाई सहित वेक्टर जनित वातावरण को समाप्त करने आदि गतिविधियां की जायेगी। वैश्विक बीमारी कोरोना को देखते हुए सोशल डिस्टेसिंग अपनाने के साथ ही अनिवार्य रूप से मास्क का प्रयोग करें ताकि कोविड-19 को फैलने से रोका जा सके। जिलाधिकारी ने निर्देश देते हुए कहा कि संचारी रोग नियंत्रण/दस्तक अभियान के दौरान आंगनबाड़ी कार्यकत्री एवं आशाओं द्वारा घर-घर जाकर लोगों को संचारी रोग के प्रति जागरूक करेंगी। इस दौरान आंगनबाड़ी कार्यकत्री एंव आशा सम्भावित कोविड-19 की तीसरी लहर को देखते हुए लोगों को कोविड से बचाव हेतु भी जानकारी देंगी। दस्तक के दौरान आशा अपने किये गये कार्यो की सूचना प्रतिदिन भरकर ए0एन0एम0 को उपलब्ध करायेंगी। स्वास्थ्य आई0सी0डी0एस0/पंचायत/नगर निकाय सम्बन्धित विभाग के संचारी रोग नियंत्रण/दस्तक अभियान की महत्वपूर्ण भूमिका है। इसलिये सम्बन्धित विभाग आगे आकर इस अभियान को सफल बनायें। और इस अभियान के दौरान किये गये कार्याे की समीक्षा भी करेंगे। जिलाधिकारी ने कहा कि संचारी रोगों व दिमागी बुखार पर प्रभावी नियंत्रण तथा इनका त्वरित, सही उपचार सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकताओं में है। जिलाधिकारी ने निर्देश दिए कि अभियान में आशा व आंगनबाड़ी साथ मे अनिवार्य रूप से भ्रमण करे, यह प्रत्येक दशा में सुनिश्चित कराया जाए। उन्होने यह भी निर्देश दिया है कि संचारी रोग नियंत्रण/दस्तक अभियान के दौरान जन जागरूकता कार्यक्रम, एण्टी लार्वा व फाॅगिंग कराई जायेगी। इसके साथ ही विभिन्न प्रचार माध्यमों से मच्छरों से बचाव हेतु घरों की खिड़की, दरवाजों पर जाली लगाने व सोते समय मच्छरदानी का प्रयोग करने तथा वेक्टर जनित वातावरण को समाप्त करने की जानकारी देकर लोगों को जागरूक किया जायेगा। जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिया कि सभी अपर मुख्य चिकित्साधिकारियों/उप मुख्य चिकित्साधिकारियों/प्रभारी चिकित्साधिकारियों का सवेंदीकरण तथा प्रभारी चिकित्साधिकारियों द्वारा ब्लाक स्तर पर ए0एन0एम0 व आशा का सवेंदीकरण तथा विकासखण्ड स्तर पर खण्ड विकास अधिकारियों द्वारा ग्राम प्रधानों का सवेंदीकरण तथा विकासखण्ड स्तर पर ही खण्ड शिक्षा अधिकारियों द्वारा सभी स्कूलों से नामित अध्यापकों का संचारी रोग एवं दिमागी बुखार पर प्रभारी नियंत्रण हेतु सवेंदीकरण किया जाए। ताकि जन-जन को जागरूक कर लोगों को पैदा होने वाले संचारी रोगों से जन-जन को बचाया जा सके। जिलाधिकारी ने सम्बन्धित अधिकारियों को निर्देश दिया कि भारत सरकार एवं प्रदेश सरकार द्वारा जारी कोविड-19 की गाइड लाइन का अनुपालन कराते हुए कार्यक्रम का संचालन कराया जाए। उन्होने निर्देश दिया कि संचारी रोगों तथा दिमागी बुखार से सम्बन्धित रोकथाम एवं नियंत्रण हेतु जनपद, ब्लाक तथा पंचायत व ग्राम स्तरों पर विभिन्न विभागों के बीच समन्वय स्थापित कर कार्यक्रम को सफल बनायें।

                         बैठक में अपर जिलाधिकारी जी पी सिंह, अपर उप जिलाधिकारी आकांक्षा सिंह, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ विनोद कुमार, जिला विकास अधिकारी आरके त्रिपाठी, जिला कृषि अधिकारी बसंत कुमार दुबे सहित संबंधित अधिकारी मौजूद रहे।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रधानमंत्री जी भारतीय आयुर्वेद चिकित्सा में,लेमन थेरेपी से कोरोना वायरस को मिल रही है मात,:-पूर्व डीजीपी मैथलीशरण गुप्त

Coronavirus से घबराएं नहीं,दो बूंद नींबू का रस लें, पिएं हल्दी युक्त गुनगुना पानी :-पूर्व डीजीपी मैथिलीशरण गुप्त

कल से बदल जाएंगे कई नियम , आम आदमी की जेब और घर के बजट पर इसका सीधा असर