जीआरपी मानिकपुर को लावारिस बैग से 140 जीवित कछुए मिले

  

चित्रकूट(स्वतंत्र प्रयाग)ट्रेन की तलाशी के दौरान जीआरपी मानिकपुर को लावारिश बैग से 140 कछुआ मले। बैग किसका है और रखने वाले कहां गये, इसकी छानबीन की जा रही है। फिलहाल कछुए मानिकपुर वाइल्ड लाइफ को सुपुर्द कर दिए गए हैं।

               जीआरपी थाना प्रभारी मानिकपुर अरविंद सरोज के अनुसार रविवार की देर शाम कंट्रोल रूम झांसी से साकेत एक्सप्रेस के कोच नंबर डी-2 की बर्थ नंबर 51 के नीचे लावारिश बैग में कछुए होने की सूचना मिली। सूचना मिलने पर वन विभाग के रेंजर त्रिभुवन प्रसाद सिंह, वाइल्ड लाइफ व आरपीएफ निरीक्षक अशोक कुमार की टीम के साथ मानिकपुर जंक्शन पहुंचे और ट्रेन की तलाशी ली। बर्थ के नीचे काला बैग पड़ा मिला। जिसमें 140 कछुए जिंदा मिले । यात्रियों से पूछताछ करने पर कोई यह नहीं बता पाया कि बैग कब कहां से और किसने रखा। फिलहाल बैग को ट्रेन से उतारकर कछुओं को वन विभाग के रेंजर को सुपुर्द कर दिया गया।

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

जिलाधिकारी ने विकास खण्ड करछना, मेजा एवं कोरांव में आयोजित गरीब कल्याण मेले में पहुंचकर विभिन्न विभागों के द्वारा लगाये गये स्टाॅलों का किया अवलोकन

विभिन्न आयु वर्गो हेतु चयन ट्रायल 15 अगस्त को

जिलाधिकारी ने थाना मऊ में समाधान दिवस के अवसर पर सुनी जनता की समस्यायें