निशान साहिब खालसा पंथ का परंपरागत प्रतीक है: पतविंदर सिंह

 


                      गुरुद्वारा में निशान साहिब की सेवा

नैनी, प्रयागराज,(स्वतंत्र प्रयाग न्यूज़): नैनी गुरुद्वारा संगत ने गुरुद्वारा प्रांगण में निशान साहिब के वस्त्र बदलने की सेवा संगत द्वारा की गई इस अवसर पर गुरबाणी कीर्तन के माध्यम से निशान साहिब के वस्त्रों जो बोले सो निहाल,सत श्री अकाल झूलते निशान पंत महाराज के गगनभेदी जयकारों के बीच बदला गयाl समाजसेवी सरदार पतविंदर सिंह ने बताया कि इस दौरान निशान साहिब को दूध और जल से स्नान कराकर केसरिया रंग के नवीन ध्वज वस्त्र निशान साहिब जो धातु रचित ध्वज डंड पर फहराया केसरिया पृष्ठभूमि ध्वज के केंद्र में नीले रंग का "खंडा"अंकित है निशान साहिब की मेजबानी कर रहे ध्वज डंड के शिखर पर डंड मुकुट के रूप में "खंडा"लगा है निशान साहिब खालसा पंथ का परंपरागत प्रतीक है काफी ऊंचाई पर रहने के कारण निशान साहिब को दूर से ही देखा जा सकता है शब्द-कीर्तन,अरदास के बाद गुरु का प्रसाद वितरण किया गया निशान साहिब की सेवा में प्रमुख रूप से ज्ञानी सतविंदर सिंह, जीएस चावला, प्रधान सुरेंद्र सिंह,सतनाम सिंह,देवेंद्र अरोरा,वरयाम सिंह,हरमन जी सिंह,करन होंडा,हरजीत सिंह मदान,सरनजीत सिंह,पतविंदर सिंह आदि मौजूद रहेl 

समाजसेवी सरदार पतविंदर सिंह ने बताया कि साथ ही संगत ने गुरु चरणों में अरदास की जो भी इस समय कोराना से संक्रमित हैं वे जल्दी से स्वस्थ हो और जो कीमती जिंदगियां छिन गई जिसमें हमारे डाक्टर,सहायक कर्मचारी और आम लोग शामिल है,वाहेगुरु अपने चरणों में उन्हें स्थान देl

टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रधानमंत्री जी भारतीय आयुर्वेद चिकित्सा में,लेमन थेरेपी से कोरोना वायरस को मिल रही है मात,:-पूर्व डीजीपी मैथलीशरण गुप्त

Coronavirus से घबराएं नहीं,दो बूंद नींबू का रस लें, पिएं हल्दी युक्त गुनगुना पानी :-पूर्व डीजीपी मैथिलीशरण गुप्त

कल से बदल जाएंगे कई नियम , आम आदमी की जेब और घर के बजट पर इसका सीधा असर