उद्योग धंधे स्थापित कर ,जिले में पैदा किया जाए रोजगार

कौशाम्बी,(स्वतंत्र प्रयाग ) उत्तर प्रदेश का अति पिछड़ा जिला कौशांबी ,में मजदूरों बेरोजगारों कामगारों के सामने 2 जून ,की रोटी की समस्या है ।


कोरोनावायरस की महामारी के बाद सरकार द्वारा घोषित लॉक डाउन के चलते ,मजदूरों के काम धंधे छिन गए हैं ,और उन्हें रोजगार नहीं मिल रहे हैं ।


इतना ही नहीं कौशांबी जनपद ,के लाखों मजदूर मुंबई ,दिल्ली, पुणे गुजरात, सूरत ,पानीपत ,महाराष्ट्र, पंजाब ,हरियाणा ,लुधियाना, बिजनौर आदि, शहरों की फैक्ट्रियों में मजदूरी कर परिवार का जीविकापार्जन चलाते थे ।


लेकिन लॉक डाउन के चलते फैक्ट्रियां बंद हो गई ,जिससे मजदूरों को वापस गांव लौटना पड़ा है ,इन स्थितियों में उनके पास रोजगार नहीं है पूरा परिवार भूखा मर रहा है।


 कौशांबी जिले के गरीब, मजदूर बेरोजगार कामगारों को रोजगार देने के लिए, कृषि आधारित औद्योगिक इकाई उद्योग धंधे फैक्ट्री लगाए जाने की जरूरत है।


 समर्थ किसान पार्टी के जिला अध्यक्ष प्रेम चंद्र केसरवानी ,ने प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, को पत्र भेजकर कहा है ,कि कौशांबी जनपद में उद्योग धंधे फैक्ट्रियां स्थापित किया जाए ।


जिससे बेरोजगार, मजदूरों कामगारों को काम मिल सके ,और उनका परिवार को 2 जून की रोटी उन्हें उपलब्ध हो सके।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रधानमंत्री जी भारतीय आयुर्वेद चिकित्सा में,लेमन थेरेपी से कोरोना वायरस को मिल रही है मात,:-पूर्व डीजीपी मैथलीशरण गुप्त

Coronavirus से घबराएं नहीं,दो बूंद नींबू का रस लें, पिएं हल्दी युक्त गुनगुना पानी :-पूर्व डीजीपी मैथिलीशरण गुप्त

कल से बदल जाएंगे कई नियम , आम आदमी की जेब और घर के बजट पर इसका सीधा असर