800 किमी0 सड़कों को हर्बल रोड के रूप में विकसित किया जायेगा: केशव प्रसाद मौर्य


हर्बल मार्ग, वाॅटर हार्वेस्टिंग, पर्यावरण व जल संरक्षण में भी लोक निर्माण विभाग योगदान दे


 


लखनऊ,(स्वतंत्र प्रयाग), उत्तर प्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने लोक निर्माण विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि वे सड़कों को हर्बल रोड के रूप में विकसित करने का हर-सम्भव प्रयास करें। 


मौर्य ने बताया कि इस वर्ष उनके दिशा निर्देशन में 800 किमी  सड़कों को हर्बल रोड के रूप में विकसित करने की कार्ययोजना बनायी जा रही है। 


उन्होने निर्देश दिये हैं कि सड़कों के किनारे हर्बल व औषधीय पौधे लगाये जाने की योजना (हर्बल रोड) के तहत सड़कों के किनारे औषधीय एवं फलदार पौधे जैसे-पीपल, आंवला, नीम, जामुन, सहजन, बेल आदि के पौधे लगाये जाएं। 


उन्होने इन पौधों को लगाये जाने के लिये अभी से तैयारी करने के निर्देश दिये हैं। 


उन्होने निर्देश दिये हैं कि जो पौधे लगाये जाएं उनकी सुरक्षा के लिये ट्री-गार्डों की व्यवस्था भी बरसात से पूर्व ही कर ली जाय तथा उनकी सुरक्षा व संरक्षण के लिये बेलदारों व मेटों आदि को भी जिम्मेदारी सौंपी जाय। 


मौर्य ने कहा कि हर्बल रोड विकसित किये जाने से जहां एक ओर पर्यावरण संरक्षण व संवर्धन को बढ़ावा मिलेगा, वहीं औषधीय पौधों से तमात प्रकार की दवाईयों को बनाये जाने में उपयोग में लाया जा सकेगा।


यही नहीं सड़कों के किनारे इन पौधों के रोपण से वर्षा से सड़कों की कटान रोकने में भी मदद मिलेगी। उपमुख्यमंत्री ने सड़कों के किनारे रेनवाटर रिचार्जिंग के लिये भी कार्ययोजना बनाकर इसे अमल में लाये जाने के निर्देश दिये हैं, इससे भू-गर्भ जल को बचाने में मदद मिलेगी।


 


 


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रधानमंत्री जी भारतीय आयुर्वेद चिकित्सा में,लेमन थेरेपी से कोरोना वायरस को मिल रही है मात,:-पूर्व डीजीपी मैथलीशरण गुप्त

Coronavirus से घबराएं नहीं,दो बूंद नींबू का रस लें, पिएं हल्दी युक्त गुनगुना पानी :-पूर्व डीजीपी मैथिलीशरण गुप्त

कल से बदल जाएंगे कई नियम , आम आदमी की जेब और घर के बजट पर इसका सीधा असर