राजधानी लखनऊ के चरक हॉस्पिटल तथा पैथोलॉजी सील इसमें कोरोना के मरीज का हुआ था इलाज



लखनऊ,(स्वतंत्र प्रयाग)यूपी मे कोरोना का आंकड़ा बढ़कर 735 हो चुका है, ये आंकड़ा 15 अप्रैल की रात 8बजे तक आई रिपोर्ट के मुताबिक है, वहीं राजधानी लखनऊ मे पॉज़िटिव मरीजों की संख्या 75 हो चुकी है, साथ ही आज लखनऊ के एक और हॉस्पिटल और एक बड़ी पैठालोजी को सील कर दिया गया है, क्योंकि आज दोपहर ही एक मरीज की पुष्टि हुई है जो लगातार वहाँ इलाज़ करवा रहा था। 



केजीएमयू के ट्रामा सेंटर के 65 डॉक्टर और पैरामेडिकल को क्वॉरेंटाइन करने के बाद बड़ी ये अब तक की सबसे बड़ी कार्यवाई है राजधानी लखनऊ के सबसे बड़े डायग्नोस्टिक सेंटर को सीज किया गया।


 डायग्नोस्टिक सेंटर में एक्स-रे करवाने के लिए वो कोरोना मरीज गया था, आज उसकी रिपोर्ट मे कोरोना की पुष्टि  हुई है, जिसके बाद से ही पूरे राजधानी मे हड़कंप मचा हुआ है, डायग्नोस्टिक सेंटर के साथ एक हॉस्पिटल भी सीज क्योंकि वही प्राथमिक तौर पर किया था कोरोना पॉजिटिव मरीज का पहली बार इलाज हुआ था।


डायग्नोस्टिक सेंटर और अस्पताल के डॉक्टर और पैरामेडिकल को क्वॉरेंटाइन करने का निर्देश जारी कर दिया गया है, जबकि वहाँ काम करने वाले किसी भी कर्मचारी को घर न जाने को भी कह दिया गया है।



डायग्नोस्टिक सेंटर और हॉस्पिटल प्रशासन को सभी कर्मियों की सूची देने का निर्देश, राजधानी लखनऊ के सबसे बड़े चरक पैथोलॉजी को सील किया गया  राजधानी लखनऊ में चरक डायग्नोस्टिक सेंटर की कई शाखाएं हैं  केजीएमयू के सामने ही चरक पैथालोजी है, वहीं कुछ ही दूरी पर चरक नाम से ही उनका हॉस्पिटल भी है, जिसे पूरी तरह से सील कर दिया गया है, केजीएमयू के कई डॉक्टर, और प्रोफ़ेसर भी यहाँ प्राइवेट तौर पर इसी हॉस्पिटल मे अपनी सेवाएँ देते थे  कुछ दिन पहले ही केजीएमयू के 5दर्जन से अधिक मेडिकल स्टाफ और डॉक्टर कोरोना पॉज़िटिव हुए थे।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रधानमंत्री जी भारतीय आयुर्वेद चिकित्सा में,लेमन थेरेपी से कोरोना वायरस को मिल रही है मात,:-पूर्व डीजीपी मैथलीशरण गुप्त

Coronavirus से घबराएं नहीं,दो बूंद नींबू का रस लें, पिएं हल्दी युक्त गुनगुना पानी :-पूर्व डीजीपी मैथिलीशरण गुप्त

कल से बदल जाएंगे कई नियम , आम आदमी की जेब और घर के बजट पर इसका सीधा असर