कोरोना के कहर के बीच प्रकृति की जबरदस्त मार: मनोज कुमार त्रिपाठी


शंकरगढ़/प्रयागराज,(स्वतंत्र प्रयाग),  कोरोना वायरस जैसी वैश्विक बीमारी से जहां पूरा देश क्या विश्व जूझ रहा है चारो तरफ हा हा कार मैच हुआ है वही दूसरी तरफ प्रकृति की भी मार भी पड़ रही है ।
 


शंकरगढ़ ब्लॉक के गोरखा गांव में आज शाम 5 बजे के करीब तेज बारिश  और तूफान के साथ  ओला बृष्टि भी हुई,  गोरखा गांव के किसानों तथा मजदूरों में राधे श्याम तिवारी पुत्र रमेश तिवारी का लगभग 20 कुंतल गेंहू पूरी तरह भीग कर खराब हो गया।
 


गांव के लोगो ने अपनी फसल की थ्रेसरिंग समय रहते जल्दी जल्दी कर लिए थे इनकी फसल बची हुई थी। आज ये भगवान की प्रकृति की मार इन्हें झेलनी पड़ी और इसके साथ साथ  तेज आंधी से घर के सारे टिन सेट  उड़ गए इसके अलावा सूर्यमणि तिवारी पुत्र स्वर्गीय गोविंद शरण तिवारी निवासी गोरखा के घर के सारे टिन सेट उड़ गए । समाजसेवी मनोज त्रिपाठी ने मांग करते हुए कहा कि इस महामारी तथा संकट की घड़ी में मजबूर किसानों को सरकार की तरफ से मदद की मांग किया है।