कवि एवं लेखक शरद मिश्र तथा बाबा ढाबा के संचालक राजभूषण मिश्र बने क्षेत्रवासियो के अन्नदाता


सरंगापुर/प्रयागराज, (स्वतंत्र प्रयाग), सारंगापुर निवासी कवि एवं लेखक शरद कुमार मिश्र एवं बाबा ढाबा के संचालक राजभूषण लॉकडाउन में क्षेत्रीय गरीब एवं मजदूरों के अन्नदाता के रूप में समाज ले लिए प्रेरणा बन गए हैं।


वह अपने गाँव के आस पास रहने वाले मजदूरों एवं गरीबों के घर हाल चाल लेते हैं उनके नाम की लिस्ट बनाते हैं उनकी परेशानी को समझते हैं उनको कोरोना से बचाव की जानकारी देते हैं और उनको राशन पानी का इंतज़ाम करते हैं।


राशन में वह ज़रूरतमंदों को 5 किलो आटा, 2 किलो चावल, 1 किलो दाल, 500 ग्राम तेल, 1 किलो नमक और 100 ग्राम मसाला का पैकेट ससम्मान उपलब्ध कराते हैं। शरद कुमार मिश्र ने कुछ दिनों पूर्व  ₹25000 प्रधानमंत्री राहत कोष में भी दान दिया था।


उनका कहना है कि वह लोगों की मदद करके आनंद की अनुभूति करते हैं। आज देश वैष्विक महामारी से जूझ रहा है ऐसे समय में जो भी सामर्थवान मनुष्य है उसको समाज के हर ज़रूरतमंद के मदद के लिए आगे आना चाहिए।


राजभूषण मिश्र ने कहा हम दान नही दे रहे बल्कि हम अपने धर्म का पालन कर रहे। और गरीबों की मदद करना सबका धर्म होना चाहिए। शरद कुमार मिश्र और राजभूषण राशन बांटने के साथ साथ राहगीरों एवं भूखे लोगों को बना बनाया भोजन भी उपलब्ध करा रहे हैं।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रधानमंत्री जी भारतीय आयुर्वेद चिकित्सा में,लेमन थेरेपी से कोरोना वायरस को मिल रही है मात,:-पूर्व डीजीपी मैथलीशरण गुप्त

Coronavirus से घबराएं नहीं,दो बूंद नींबू का रस लें, पिएं हल्दी युक्त गुनगुना पानी :-पूर्व डीजीपी मैथिलीशरण गुप्त

कल से बदल जाएंगे कई नियम , आम आदमी की जेब और घर के बजट पर इसका सीधा असर