इस बार आई पी यल 2020 लम्बा समय लेगा, कैंसिल करने से होगा 3 हजार करोड़ का नुकसान, 2020 में परमीशन देगी सरकार



मुंबई,(स्वतंत्र प्रयाग)दुनियाभर मे इस वक़्त कोरोना का संकट गहरा गया है, चीन के बाद इटली और अमेरिका मे सबसे ज्यादा मौत हुई है, जहां अब लाशों की गिनती करनी मे भी दिक्कत हो रही  है, सभी जगहो पर समूहिक तौर पर कब्र खोदकर उसेम केमिकल डालकर शवो को दफनाने की तैयारियां चल रही हैं  वहीं भारत मे भी 12 अप्रैल की दोपहर 2बजे तक देशभर मे 8472 पॉज़िटिव पाए गए हैं, जबकि  290 लोग मर चुके हैं।
 


दुनिया भर मे इस वक़्त हर तरफ लॉक डाउन किया गया है, जिसका प्रभाव खेलो पर भी हुआ है, सभी खिलाड़ियों से घर पर ही रहने को कहा गया है वहीं अब क्रिकेट टूर्नामेंट इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 13वें सीजन पर संकट गहरा गया है।


 


देश में 14 अप्रैल तक लगे लॉकडाउन को 30 अप्रैल तक बढ़ने की पूरी उम्मीद है ऐसे में बीसीसीआई आईपीएल को अनिश्चितकाल के लिए टाल सकती है  कोरोना और वीजा प्रतिबंध के कारण 29 मार्च से होने वाले टूर्नामेंट को 15 अप्रैल तक के लिए टाला गया था।


बीसीसीआई अब आईपीएल को सितंबर में कराने पर विचार कर रही है  केंद्र सरकार ने 15 अप्रैल तक ही वीजा पर प्रतिबंध भी लगाया था  अब इसके भी बढ़ने की पूरी उम्मीद है वहीं सरकार से जुड़े सूत्रो के मुताबिक आईपीएल 2020 हो पाना संभव नहीं होगा, क्यूंकी इसमे बहुत भीड़ होती है, ऐसे मे लॉक डाउन खुलने के बाद भी इसकी परमिशन मिलना संभव नहीं है  इस लिए अब 2021 के आईपीएल की तैयारी करें।


 


कोरोनावायरस से दुनियाभर में रविवार सुबह तक 17 लाख 79 हजार लोग संक्रमित पाए गए हैं  एक लाख 8 हजार 770 की मौत हो चुकी है वहीं, चार लाख दो हजार 709 ठीक हो चुके हैं  स्वास्थ्य मंत्रालय के मुताबिक, भारत में रविवार सुबह 8 बजे तक देश में 8 हजार 356 लोग संक्रमित हैं इनमें से 7 हजार 367 का इलाज चल रहा है 715 ठीक हुए हैं और 242 की मौत हो चुकी है।



बीसीसीआई के एक अधिकारी ने न्यूज एजेंसी को बताया, ‘‘तीन राज्य पंजाब, महाराष्ट्र और कर्नाटक पहले ही लॉकडाउन की अवधि को बढ़ा चुके हैं  यदि देश में भी यही फैसला लिया जाता है, तो फिर ऐसी स्थिति में आईपीएल होना संभव नहीं है  लेकिन हम तत्काल प्रभाव से आईपीएल को रद्द भी नहीं किया जा सकता है। इसके अनिश्चितकाल के लिए टलने की पूरी संभावना है।


हम आईपीएल को रद्द भी नहीं कर सकते हैं, क्योंकि यदि ऐसा होता है, तो करीब 3 हजार करोड़ रुपए का नुकसान होगा  बीसीसीआई अपने स्टॉकहोल्डर्स से बात कर कोई रास्ता निकालने की कोशिश कर रही है  ऐसे संकट के समय में बीसीसीआई के पदाधिकारी यह कहने की स्थिति में नहीं हैं कि आईपीएल होगा या नहीं ’’ ।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रधानमंत्री जी भारतीय आयुर्वेद चिकित्सा में,लेमन थेरेपी से कोरोना वायरस को मिल रही है मात,:-पूर्व डीजीपी मैथलीशरण गुप्त

Coronavirus से घबराएं नहीं,दो बूंद नींबू का रस लें, पिएं हल्दी युक्त गुनगुना पानी :-पूर्व डीजीपी मैथिलीशरण गुप्त

कल से बदल जाएंगे कई नियम , आम आदमी की जेब और घर के बजट पर इसका सीधा असर