शासन के मनसा के अनुरूप क्रियान्वयन में ढिलाई बर्दास्त नही की जाएगी: जिलाधिकारी प्रयागराज


 


प्रयागराज, (स्वतंत्र प्रयाग) जिलाधिकारी प्रयागराज भानुचंद्र गोस्वामी की अध्यक्षता में संगम सभागार में जिला स्तरीय स्वास्थ्य समिति की बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में जिलाधिकारी ने स्वास्थ्य विभाग द्वारा संचालित विभिन्न कार्यक्रमों की समीक्षा करते हुए निर्देश दिया कि शासन की मंशानुसार कार्यक्रमों के क्रियान्वयन में ढिलाई बिल्कुल बर्दाश्त नही की जाएगी। शिथिलता बरतने वाले चिकित्सा अधीक्षकों के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी तथा अच्छा कार्य करने वाले को सम्मानित किया जाएगा।
       


कन्या सुमंगला योजना  में खराब उपलब्धि पर अप्रसन्नता प्रकट करते हुए जिलाधिकारी ने फुलपुर, हंडिया, मऊआइमा, बहरिया के चिकित्सा अधीक्षक को चेतावनी देते हुए कहा कि 8 मार्च को आयोजित पुनः समीक्षा बैठक में  प्रगति न परिलक्षित होने पर कठोर कार्यवाही करने की जाएगी। 


आयुष्मान भारत योजना की समीक्षा में न्यूनतम गोल्डेन कार्ड बनाने वाले ब्लॉकों क्रमशः फूलपुर, सैदाबाद, करछना, बहादुरपुर ब्लॉक के चिकित्सा अधीक्षकों को निर्देशित किया कि 8 मार्च तक प्रति परिवार कम से कम एक कार्ड अवश्य बन जाए। जननी सुरक्षा योजना में पिछले वर्ष की तुलना में प्रतापपुर, बहादुरपुर, रामनगर, करछना ब्लॉक में गिरावट पर जिलाधिकारी ने अप्रसन्नता प्रकट की।


मेजा मांडा एवं शंकरगढ़ सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र को प्रथम सन्दर्भन इकाई बनाने का अनुमोदन प्रदान किया गया तथा मुख्य चिकित्साधिकारी को ऊक्त चिकित्सा इकाइयों पर विशेषज्ञ चिकित्सकों की तैनाती की निर्देश दिया गया ताकि दूरस्थ ब्लॉक की गर्भवती महिलाओं की सिजेरियन प्रसव की सुविधा उपलब्ध हो सके।


चिकित्सा अधीक्षक कौड़िहार डॉ. दीपक तिवारी, चिकित्सा अधीक्षक प्रतापपुर डॉ. रावेंद्र सिंह, चिकित्सा अधीक्षक चाका डॉ. हेमंत सिंह एवं प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक मोती लाल नेहरू मंडलीय चिकित्सालय डॉ. बीके सिंह को अच्छा कार्य करने के लिए जिलाधिकारी ने प्रसंसा पत्र देकर सम्मानित किया।


चिकित्सा अधीक्षक हंडिया डॉ. सुरेश यादव जो सर्जन भी हैं सर्वाधिक 100 सिजेरियन प्रसव करने तथा प्रमुख चिकित्सा अधीक्षिका जिला महिला चिकित्सालय डॉ. मनीषा अग्रवाल को परिवार नियोजन में उल्लेखनीय कार्य करने को दृष्टिगत रखते हुए अगले जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक में प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित करने का निर्देश दिया।


बैठक में मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ जीएस बाजपेई, डॉ. मनीषा गुप्ता, डॉ. सुषमा श्रीवास्तव, डॉ आर एस ठाकुर, डीपीएम विनोद कुमार सिंह सहित सभी ब्लॉकों के चिकित्सा अधीक्षक, ब्लॉक कार्यक्रम प्रबंधक सहित सहयोगी विभागों तथा संस्थाओं के अधिकारी उपस्थित थे।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रधानमंत्री जी भारतीय आयुर्वेद चिकित्सा में,लेमन थेरेपी से कोरोना वायरस को मिल रही है मात,:-पूर्व डीजीपी मैथलीशरण गुप्त

Coronavirus से घबराएं नहीं,दो बूंद नींबू का रस लें, पिएं हल्दी युक्त गुनगुना पानी :-पूर्व डीजीपी मैथिलीशरण गुप्त

कल से बदल जाएंगे कई नियम , आम आदमी की जेब और घर के बजट पर इसका सीधा असर