प्रतिदिन सांप दिखा कर अपने परिवार को पालने वाले सपेरे भुखमरी के कगार पर, किन्तु प्रधान ने मदद करने का दिया भरोसा


शंकरगढ़/प्रयागराज,(स्वतंत्र प्रयाग) क्षेत्र के कपारी, गुड़िया तालाब, बेमरा ,शिवराजपुर,टन्डन वन, मिश्रपुरवा में रहने वाले सपेरे तथा मजदूर  क्षेत्र के दिहाड़ी  लॉकडाउन के चलते इन दिनों भुखमरी की कगार पर आ गए हैं। 
   


 मांग कर अपना जीवन यापन करने वाले सपेरे, दिहाड़ी मजदूर तथा मजदूर  इन दिनों लाकडाउन के चलते घरों में ही कैद हैं ऐसे में उनके लिए 2 जून की रोटी जुटाना  मुश्किल हो गया है क्षेत्र के कुछ समाजसेवियों द्वारा बीते दिनों ऐसे लोगों की मदद की गई लेकिन उनके लिए अभी भी कोई ठोस उपाय निकालना बाकी है।


बताया गया कि शासन द्वारा ऐसे लोगों को ग्राम सभा द्वारा कई योजनाओं का लाभ दिया गया है लेकिन इन दिनों उनके लिए सबसे बड़ी समस्या पेट भरना है ग्राम सभा कपारी के प्रधान प्रतिनिधि रामबाबू सिंह ने बताया कि कपारी में लगभग 1000 की जनसंख्या में सपेरे रहते हैं।


अधिकतर लोगों का राशन कार्ड बना हुआ है लेकिन एक यूनिट पर 5 किलो राशन से एक व्यक्ति 1 महीने भर नहीं खा सकता। अभी तक ये सपेरे कुछ राशन कार्ड से राशन मिल जाने तथा कुछ मांग कर दो वक्त की रोटी जुटा लेते थे।


वहीं कुछ लोग मजदूरी करके गुजर बसर कर लेते थे लेकिन लॉक डाउन के चलते सब घरों में बैठ गए हैं जिससे समस्या खड़ी हो गई है। बताया गया कि कुछ लोगों का राशन कार्ड भी कट गया है तथा कुछ राशन कार्डों से कई लोगों का नाम भी हटा दिया गया है।
 जिससे और समस्या उत्पन्न हो गई है  उन्होंने कहा कि मैं हर संभव प्रयास करूँगा मैं  इनके खाने-पीने का  इंतजाम कर रहा हूं। लेकिन इन्हें शासन की तरफ से और भी मदद की जरूरत है।