नाव से बालू खनन शुरू करने व फर्जी मुकदमे खत्म करने को लेकर धरना प्रदर्शन


 
प्रयागराज, (स्वतंत्र प्रयाग),लालापुर,  हजारों कि संख्या में बालू खनन मजदूर ने उत्तर प्रदेश  सरकार के जमुना नदी में नाव से खनन पर लगाए गए गैर कानूनी रोक का विरोध करते हुए 24 घंटे का धरना क्षेत्र के लालापुर थाना अंतर्गत जगदीशपुर गांव में बुधवार दोपहर से यमुना तट पर आयोजित किया।


उत्तर प्रदेश सरकार का यह बोट पर रोक का आदेश उच्च न्यायालय के आदेशऔर सरकारी जिओ के विपरित है, और ये लोडर मशीनों से नदी के तट बांधो की सूखी बालू उठाने के लिए पारित किए गए है लोडर द्वारा सूखी बालू  उठने से तट बांधो को नुकसान पहुंचेगा नदी का बहाव व पारिस्थितिकी नष्ट होगी।


ए आई के एम ने कहा है कि यमुना नदी किनारे बसे सभी गांवों में इस सरकार द्वारा मजदूरों व नेताओ पर दर्ज फर्जी मुकदमे व गैजेस्टर केस वापस लेने के लिए एक बड़ा संघर्ष शुरू किया जाएगा।


सीएए, एनआरसी, एनपीआर के विरूद्ध नारे लगाए और मांग की कि सरकार इन कानूनों को वापिस ले।
राजकुमार पथिक इलाहाबाद महासचिव,,सुरेश निषाद इलाहाबाद उपाध्यक्ष,फूलचंद निषाद महासचिव कौशांबी, आंदोलन को समर्थन करने के लिए मंसूर अली पार्क से आए हमजा हसन ने अपना समर्थन देते हुए अपने विचार व्यक्त किए। 


इस मौके पर श्यामू निषाद,रामतीरथ निषाद,बब्बू निषाद,रामरूप,रामभवन,श्याम कली निषाद, बिटोला देवी,अनीता देवी उपस्थित रही वही 
धरने को खत्म कराने के लिए उपजिलाधिकारी बारा इन्द्रभान तिवारी,क्षेत्राधिकारी बारा राम प्रकाश दोहरे,थानाध्यक्ष बारा इंसपेक्टर जय प्रकाश साही,लालपुर थानाध्यक्ष शन्तोष कुमार,सिंह शंकरगढ़,बारा की पुलिस बल मान मनव्वल करती रही लेकिन मजदूर संघ अपना धरना चालू रखा।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रधानमंत्री जी भारतीय आयुर्वेद चिकित्सा में,लेमन थेरेपी से कोरोना वायरस को मिल रही है मात,:-पूर्व डीजीपी मैथलीशरण गुप्त

Coronavirus से घबराएं नहीं,दो बूंद नींबू का रस लें, पिएं हल्दी युक्त गुनगुना पानी :-पूर्व डीजीपी मैथिलीशरण गुप्त

कल से बदल जाएंगे कई नियम , आम आदमी की जेब और घर के बजट पर इसका सीधा असर