बारा थाना क्षेत्र में किराना तथा सब्जी के दुकानदार वसूल रहे,मनमाना पैसा किसी का नही है भय

 


 


बारा,प्रयागराज,(स्वतंत्र प्रयाग), बारा, थाना क्षेत्र में किराना तथा सब्जी के दुकानदार वसूल रहे है मनमाना पैसा,  बता दे कि कोरोना वायरस को लेकर पूरे भारत मे 21 दिनों के लिए लॉक डाउन कर दिया गया है जहाँ एक तरफ पूरा देश कोरोना जैसी महामारी से जूझ रहा है वही दूसरी तरफ दुकानदार मनमाने दाम पर समान बेंच रहे है।
 


नवरात्री का पर्व है जिसमे रोजमर्रा की चीजें दाल चीनी सब्जी आदि सामानों को दुकानदार मनमाना दाम ग्राहकों से वसूल रहे है सबसे ज्यादा परेशानी सब्जी के लिए हो रही है आलू जहां 15 रुपये किलो थी 35 से 40 रुपये किलो बिक रही है इसी तरह टमाटर के दाम में भारी इजाफा दुकानदार कर दिए है टमाटर तो 50 से 60 रुपये किलो बिकने लगा है ।
 लोग रोजमर्रा की वस्तुएं मजबूरन महज दामो पर खरीद रहे है जबकि मंडियो में इतना महगाई नही है किंतु लोगो को समान महज दाम पर दिया जा रहा है।  सब्जी में लोगो को भारी परेशानी हो रही है । सब्जी मंडी जसरा से लोग कम दामो पर खरीद लेते थे।


किंतु फुटकर बिक्री के नाम पर मंडी में भी रोक लग गई है जोकि  व्यपारियो  को ही मंडी में जाने की छूट है अब सवाल खड़ा हो जाता है कि थोक सब्जी के विक्रेता मनमाना पैसा सब्जी का ग्राहकों से वसूल रहे है।
 कोई भी अंकुश नही है जसरा मंडी नजदीक होने से लोग पहले भी अपने हिसाब से सब्जी जा कर खरीद लिया करते थे किंतु अब स्थिति यह हो गई है।


कि थोक  व्यपारियो  को ही मंडी में घुसने की इजाजत है थोक व्यपारियो  मनमाने दाम पर सब्जी बेंच रहे है ऐसी स्थिति में जनता कहा जाएगी किराना की दुकान पर कमोवेश  यही स्थिति है रोजमर्रा की सभी वस्तुएं महंगे दाम पर बेची   जा रही है सबसे अधिक परेशानी ग्रामीण क्षेत्र के लोगो को हो रही है।


जबकि माननीय प्रधान मंत्री जी तथा मुख्यमंत्री जी 10 बजे के पहले जरूरी सामान खरीदने की छूट भी दिए है कहा है कि जनता कर्फ्यू का पालन करते हुए अपने जरूरत की वस्तुएं  खरीद सकते है किंतु लोगो को समान खरीदने में परेशानियो का सामना करना पड़ता है।
 


लोगो को रोजमर्रा की वस्तुएं महंगे दामो पर मजबूरन खरीदनी पड़ती है इस संबंध में एक  व्यक्ति  ने बताया कि आज सुबह मेरे  गांव में सब्जी महंगी बिकने के कारण मैं  जसरा मंडी गया किन्तु वहाँ सब्जी नही खरीद  पाया वहां पर मौजूद पुलिस कर्मी अभद्रता पर उतारू थे  पूछा गया कि क्यों नही जाने दे रहे है।
 


मुझे तो  एक बोरी आलू खरीदनी है फिर भी नही जाने दिया गया अब ऐसे में सवाल ये खड़ा होता है कि जब एक बोरी खरीदने पर भी मंडी में प्रवेश नही करने दिया जा रहा है तो मजबूरी में लोग महज दामो पर ही सब्जी खरीदेंगे।
 


प्रशासन अगर थोक व्यपारियो  को ही सब्जी मंडी में जाने की छूट अगर दे रहा है या अन्य वस्तुओं को थोक ही खरीद पर  छूट है तो  फुटकर खरीद की छूट नही है तो प्रशासन थोक व्यपारियो  पर महज दामो पर समान या सब्जी बेचने पर अंकुश भी लगाए ।


 अब जो भी हो यह तो अधिकारियो को ही समझना चाहिए किन्तु लोगो को महंगे दामो पर रोजमर्रा की वस्तुएं मजबूरन खरीदना पड़  रहा है। इस संबंध में उपजिलाधिकारी बारा श्री संदीप भागिया  से भी बात  की गई तो उनका कहना था कि मंडी में थोक व्यापारी  ही प्रवेश कर सकेंगे।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रधानमंत्री जी भारतीय आयुर्वेद चिकित्सा में,लेमन थेरेपी से कोरोना वायरस को मिल रही है मात,:-पूर्व डीजीपी मैथलीशरण गुप्त

Coronavirus से घबराएं नहीं,दो बूंद नींबू का रस लें, पिएं हल्दी युक्त गुनगुना पानी :-पूर्व डीजीपी मैथिलीशरण गुप्त

कल से बदल जाएंगे कई नियम , आम आदमी की जेब और घर के बजट पर इसका सीधा असर