अनुपम खेर की माँ प्रधानमंत्री नरेंद मोदी से बोली, आप 130 करोड़ देशवाशियो के लिए परेशान है,किंतु आपका कौन ख्याल रख रहा है

 



मुंबई,(स्वतंत्र प्रयाग),कोरोना के इस दौर में हर कोई एक-दूसरे के स्‍वस्‍थ रहने की कामना कर रहा है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्‍ट्र के नाम अपने संबोधन में हाथ जोड़कर लोगों से अपना खयाल रखने और घर से बाहर नहीं निकलने की गुजारिश की है।


इस बीच अनुपम खेर ने गुरुवार को अपनी मां का एक वीडियो ट्विटर पर शेयर किया है  वीडियो में उनकी मां दुलारी खेर प्रधानमंत्री के लिए दुआ करती हुई नजर आ रही हैं  वह कहते-कहते थोड़ी भावुक भी हो जाती हैं।


प्रधानमंत्री मोदी ने भी ट्वीट करते हुए दुलारी खेर का धन्‍यवाद किया है  उन्‍होंने कहा कि माताओं का आशीर्वाद ही उनकी प्रेरणा और ऊर्जा है  दिग्‍गज ऐक्‍टर अनुपम खेर भी सेल्‍फ आइसोलेशन में हैं।


उन्‍होंने गुरुवार को ट्व‍िटर पर वीडियो पोस्‍ट करते हुए लिखा, 'आदरणीय प्रधानमंत्री @narendramodi जी! देश भर की माताओं की तरह मेरी मां भी आपके स्वास्थ्य को लेकर चिंतित है  कह रही है आप 130 करोड़ देशवासियों के लिए परेशान हैं लेकिन आपका ख़्याल कौन रख रहा है।


ये बोलते बोलते मां रुआंसी भी हुई Please take care  हम सब भी हाथ जोड़ रहे है अनुपम खेर की अपनी मां दुलारी खेर इस 35 सेकेंड के वीडियो में कह रही हैं, 'मोदी साहब हमारे लिए इतना बोलते हैं, हमें भी बोलना चाहिए कि वह परहेज कर लें  मा हम हमारे लिए दुआ करते हैं।


यह इतना परेशान है हमारे लिए  मैं भी इसके लिए बहुत परेशान हूं कि ये ठीक ठाक रहे सलामत रहे हमारा ऐसा मंत्री कभी नहीं मिलेगा कहीं नहीं मिलेगा दुलारी खेर आगे कहती हैं कि प्रधानमंत्री मोदी हाथ जोड़कर लोगों से अपील करते हैं।


आज की दुनिया में कोई हाथ जोड़कर नहीं कहता भगवान उनको ठीक-ठाक रखे बता दें, बीते दिनों अनुपम खेर की एक कविता भी खूब चर्चा में आई थी  कोरोना संक्रमण से बचाव और लोगों से घर में रहने की अपील करते हुए अनुपम खेर ने यह कविता सुनाई थी।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रधानमंत्री जी भारतीय आयुर्वेद चिकित्सा में,लेमन थेरेपी से कोरोना वायरस को मिल रही है मात,:-पूर्व डीजीपी मैथलीशरण गुप्त

Coronavirus से घबराएं नहीं,दो बूंद नींबू का रस लें, पिएं हल्दी युक्त गुनगुना पानी :-पूर्व डीजीपी मैथिलीशरण गुप्त

कल से बदल जाएंगे कई नियम , आम आदमी की जेब और घर के बजट पर इसका सीधा असर