सेना के शौर्य को सलाम करने के  साथ सम्पन्न हुआ डिफेंस एक्सपो रक्षा  प्रदर्शनी देखने को उमड़ पड़ा जनसैलाब


लखनऊ,(स्वतंत्र प्रयाग) डिफेंस एक्सपो का आखिरी दिन मानो पूरा शहर ही वृंदावन योजना में लाइव शो स्थल देखने पहुंच गया हो  सेना के शौर्य को देखने के लिये जनरेटर, वाटर टैंकर और बल्लियों पर लोग चढ़ गये. उनको रोक पाना सुरक्षाकर्मियों के लिये भी मुश्किल हो गया।


कोई अनहोनी न हो इसके लिये बार-बार एनाउंसमेंट होते रहे उधर, लोगों की भीड़ सुबह नौ बजे से ही इतनी अधिक बढ़ गई कि प्रवेश द्वार पर लम्बी कतारें लग गई  यह कतारें दोपहर तीन बजे के बाद भी लगी रहीं जबकि कार्यक्रम एक बजे ही समाप्त होने की घोषणा कर दी गई।


एशिया की सबसे बड़ी रक्षा प्रदर्शनी देखने के लिए रविवार को जनसैलाब उमड़ पड़ा था सेना के जज्बे उनके मारक हथियारों को देखने के लिये लोगों के जोश को रोक पाना रविवार को मुश्किल हो गया।


खचाखच भरा मैदान, जोश और जुनून से लबरेज युवा, चारों तरफ भारत माता की जय के गगनभेदी नारे और तालियों की गड़गड़ाहट गूंज रही थी लाइव शो शुरू होने से करीब एक घंटे पहले ही मैदान खचाखच भर गया पैर रखने की भी जगह नहीं बची।


जो लोग आयोजन स्थल तक नहीं पहुंच पाये वो वहां लगी एलईडी स्क्रीन पर लाइव शो देखने लगे कार्यक्रम समाप्ति के बाद जब लोग निकले तो पीजीआई जाने वाली रोड पर कुछ देर तक जाम की स्थिति रही  पुलिस व ट्रैफिक कर्मियों ने काफी मशक्कत की और जाम नहीं लगने दिया।


जुनून ऐसा कि किसी तरह से बस आयोजन स्थल के अंदर पहुंच जाएं  एक बजे आयोजन की समाप्ति की घोषणा के होने के बाद भी लोगों की लम्बी कतारें प्रवेश द्वार लगी रहीं सुरक्षाकर्मी कहते रहे कि कार्यक्रम खत्म हो गया है अब आप सुरक्षित अपने घर जाइये।


इसके बावजूद लोग उनकी सुने बिना आयोजन स्थल के अंदर जाने की जिद पर अड़े रहे  प्रदर्शनी स्थल से भी स्टाल खाली हो चुके थे तो लोगों ने बाहर सेना के मारक हथियारों के पास फोटो खिंचवाकर अपनी उपस्थिति आयोजन स्थल पर दर्ज कराई।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रयागराज में युवक की जघन्य हत्या कर शव को शिव मंदिर के समीप फेंका , पुलिस ने शव को लिया अपने कब्जे में

जिलाधिकारी ने विकास खण्ड करछना, मेजा एवं कोरांव में आयोजित गरीब कल्याण मेले में पहुंचकर विभिन्न विभागों के द्वारा लगाये गये स्टाॅलों का किया अवलोकन

जिलाधिकारी ने थाना मऊ में समाधान दिवस के अवसर पर सुनी जनता की समस्यायें