मनोकामना के लिए भक्त पहुंचते हैं मनकामेश्वर धाम


 


 प्रयागराज,(स्वतंत्र प्रयाग),लालापुर, पर्वत के शिखर पर स्थित मनकामेश्वर धाम में हर किसी की मनोकामना पूरी होती है।प्रयागराज से लगभग 40 किमी० दक्षिण पश्चिम छोर पर विराजमान भूतेश का शिवलिंग भक्ति का अद्भुत संगम है।यमुना नदी के किनारे पहाड़ की चोटी पर विराजमान भगवान शिव का दर्शन पूजन करने के लिए दूर दूर से भक्त आते हैं और अपनी मनोकामना पूर्ण करतें हैं।कहा जाता है कि भगवान राम ने वनगमन के समय मनकामेश्वर शिवलिंग की स्थापना की थी।


शुक्रवार को महाशिवरात्रि होने से सुबह 03 बजे से ही मनकामेश्वर धाम में भक्तों की भारी भीड़ रही।
 मनकामेश्वर मेले में ग्रामीण व शहरी क्षेत्रों का मेला रहा।सुबह से शिव भक्तों ने हर हर महादेव का जयकारा लगाते हुए भगवान मनकामेश्वर का दर्शन कर अपने परिवार की मंगलकामना के लिए पूजा अर्चना की।महाशिवरात्रि के पावन पर्व में हजारों श्रद्धालुओं ने हर हर महादेव का जयकारा लगाते हुए भगवान भूतेश का दर्शन कर जलाभिषेक किया।


उपेक्षा का शिकार है,मनकामेश्वर धाम


क्षेत्र का मनकामेश्वर धाम अधिकारियों की उपेक्षा का शिकार है।नहर से लेकर धाम तक लगभग 1 किलोमीटर तक सड़क पूरी तरह खराब है।साथ ही गाड़ी खड़ी करने के लिए पार्किंग की  कोई व्यवस्था नही है।मनकामेश्वर धाम के पुजारी ने बताया कि मंदिर के अलावा अन्य कोई फंड नही होने से जीर्णोद्धार नही हो पा रहा है।