खाद्य प्रसंस्करण उद्योगों को बढ़ावा देने  के लिए उत्तर प्रदेश  सरकार द्वारा  किए जा रहे हैं अभिनव प्रयास:केशव प्रसाद मौर्य


लखनऊ,(स्वतंत्र प्रयाग)  उप मुख्यमंत्री  श्री केशव प्रसाद मौर्य के दिशा निर्देशन में उत्तर प्रदेश मे खाद्य प्रसंस्करण उद्योगों को बढ़ावा देने के अभिनव प्रयास किए जा रहे हैं।
 खाद्य  प्रसंस्करण के माध्यम से जहां  उत्पादित सामग्री के विपणन व व्यापार की  व्यवस्था की जा रही है ,वहीं लोगों को रोजगार के साधन उपलब्ध हो रहे हैं । खाद्य प्रसंस्करण उद्योगों को बढ़ावा देने हेतु विभिन्न विधाओं में लोगों को प्रशिक्षण भी दिया जा रहा है।  


राजकीय खाद्य प्रसंस्करण प्रौद्योगिकी संस्थान लखनऊ में एम0 एस0 सी0 पाठ्यक्रम में सीटों की संख्या 30 से बढ़ाकर 40 कर दी गई है, जिससे खाद्य प्रसंस्करण उद्योगों  हेतु अतिरिक्त प्रशिक्षित मानव संसाधन सुलभ होंगे ।         


उद्यान, निदेशक श्री एस0बी0 शर्मा ने बताया उ0प्र0 मे खाद्य प्रसंस्करण उद्योगों की स्थापना ,विस्तारीकरण एवं आधुनिकीकरण हेतु पूंजीगत उपादान एवं ब्याज उपादान की सुविधाएं  उपलब्ध हैं। योजना का लाभ प्राप्त करने हेतु उद्यमियो से ऑनलाइन आवेदन के लिए नवीन पोर्टल www.horticulture.in विकसित कर लांच की गई है ।


उत्तर प्रदेश खाद्य प्रसंस्करण उद्योग नीति के अंतर्गत जनवरी 2020के अन्त  तक 398 उद्यमियों द्वारा ऑनलाइन आवेदन किया गया है। जिनमें 2060.01 लाख का पूंजी निवेश एवं 31480 रोजगार सृजन संभावित है। अब तक राज्य स्तरीय इंपावर्ड कमेटी द्वारा 179 परियोजना प्रस्तावो को स्वीकृति प्रदान की गई है ,जिनमें रुपया  57293.70 लाख का पूंजी निवेश  प्रस्तावित है।