योगी आदित्यनाथ का सीए कानून के विरोध पर वामपंथी दलों व कांग्रेस  पर किया हमला



गोरखपुर (स्वतंत्र प्रयाग): यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने नागरिकता संशोधन कानून का विरोध करने पर वामपंथी दलों और कांग्रेस पर सीधा हमला बोला और कहा कि ये राजनीतिक दल वोट बैंक के लिये देश को गुमराह कर रहे हैं।यहां महाराणा प्रताप कालेज के मैदान में आयोजित रैली में मुख्यमंत्री ने कहा कि वामपंथ में एक सिद्धांत है कि एक झूठ को सौ बार बोलो तो वो सच हो जाता है।


अब कांग्रेस ने भी इस झूठ को अपना लिया है। कांग्रेस का पूरा परिवार झूठ में लिप्त है। देश के लोगों को स्थिति साफ करनी होगी कि यह नागरिकता देने का कानून है लेने का नहीं। उन्होंनें फिर साफ किया कि इस कानून से देश के किसी भी नागरिकता नहीं जाएगी।


उन्होंने कहा कि घुसपैठियों के खिलाफ जरूर यह कानून है जो देश में आतंकवाद पैदा कर रहे हैं। आदित्यनाथ ने कहा कि भारत अब दुनिया में एक ताकत बन कर उभर रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व ने दुनिया को अपनी ताकत का एहसास करा दिया है।


जिन लोगों को यह अच्छा नहीं लग रहा है वो देश के लोगों को गुमराह कर रहे हैं । देश के लोगों को ऐसे दलों से सावधान रहने की जरूरत है।मुख्यमंत्री ने कहा कि ईरान अमेरिका में युद्ध के हालात बनने पर भारत की ओर मध्यस्थता के लिये देखा जा रहा है। पड़ोसी देश में धर्म के आधार पर प्रताड़ित किये गये लोगों को देश में नागरिकता देने का काम तो 1951 में ही हो जाना चाहिये था लेकिन कांग्रेस की सरकारों ने यह नहीं किया।


कांग्रेस को डर था कि मुसलमानों का वोट बैंक कहीं छिटक नहीं जाये। अब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पाकिस्तान,बांग्लादेश और अफगानिस्तान में धर्म के आधार पर सताये गये लोगों को नागरिकता दे रहे हैं तो कांग्रेस समेत वामपंथी दल संविधान की रक्षा की दुहाई दे रहे हैं ।उन्होंने याद दिलाया कि आज ही के दिन कश्मीर से लाखों हिंदूओं को 30 साल पहले भगाया गया ।


औरतों के साथ बलात्कार हुआ। सैंकड़ों मंदिर को आग के हवाले किया गया । संविधान को तार तार किया गया ,चीरा गया ,फाड़ा गया लेकिन किसी को इसकी याद नहीं आई । अब जब पड़ेसी देशों में धर्म के आधार पर प्रताड़ित किये लोगों को नागरिकता दी जा रही है तो एक खास समुदाय के लोगों को उकसा कर सड़कों पर हिंसा करने के लिये उतारा जा रहा है और संविधान की दुहाई दी जा रही है।


योगी ने पिछले नौ नवम्बर को उच्चतम न्यायालय के राम मंदिर पर आये फैसले का भी जिक्र किया और कहा कि 1528 से ही हर भारतीय की इच्छा अयोध्या में राम मंदिर बनने की थी लेकिन कांग्रेस सुनवाई नहीं होने दे रही थी। कांग्रेस ने लगातार इसमें रोड़े अटकाए। कांग्रेस ने तो राम के अस्तित्व पर ही सवाल उठा दिया और एक काल्पनिक चरित्र करार दिया।


उन्होंने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर को लेकर कांग्रेस के पास प्रायश्चित का मौका था लेकिन पार्टी इसमें भी चूक गई। पार्टी ने लगातार सुनवाई में देरी की नीति अपनाई ओर देश को अपने झूठ में उलझाये रखा।गोरखपुर के सांसद रवि किशन ने दिल्ली समेत अन्य जगहों पर सीएए के विरोध को प्रायोजित बताया और कहा कि इसके लिये मुस्लिम महिलाओं और बच्चों को 500 रूपये देकर बैठाया जा रहा है। मुस्लिम महिलाओं को भी समझना होगा कि उनका राजनीतिक दल किस तरह इस्तेमाल कर रहे हैं