गुरुवार, 2 जनवरी 2020

शिवसेना के कई विधायक छोड़ सकते हैं पार्टी ,मंत्री पद नहीं मिलने से नाराज़ ,संजय राउत के पोस्ट से बढ़ा सस्पेंस


मुंबई (स्वतंत्र प्रयाग) महाराष्ट्र एक महीने पुरानी उद्धव ठाकरे मंत्रिपरिषद का पहला विस्तार होते ही महाराष्ट्र विकास अघाड़ी के तीनों घटक दलों (शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी) के अंदर मंत्री नहीं बनाए जाने को लेकर भारी असंतोष है।


उद्धव ठाकरे की ही पार्टी शिवसेना के 12 विधायकों के पार्टी छोड़ने की सुगबुगाहट शुरू हुई है। पार्टी नेता ने साफ किया कि लिस्च लंबी होने की वजह से कई विधायकों को मंत्री नहीं बनाया जा सका है। उद्धव ठाकरे ने नाराज नेताओं की एक बैठक बुलाई है।


इस बीच गुरूवार (02 जनवरी) को शिवसेना ने माना कि हालिया मंत्रिपरिषद विस्तार के बाद तीनों दलों के विधायकों में गहरा अंसतोष है। शिवसेना सांसद और प्रवक्ता संजय राउत के फेसबुक पोस्ट ने सस्पेंस और गहरा दिया है।


चुनावों से पहले एनसीपी छोड़कर शिवसेना में आए भास्कर जाधव ने ठाकरे पर अपना वादा नहीं निभाने का आरोप लगाया है। फडणवीस सरकार में मंत्री रहे तानाजी सावंत भी मंत्रिमंडल में शामिल नहीं किए जाने से नाराज हैं।


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें