सीएम योगी का बड़ा एक्शन, गौतमबुद्धनगर के SSP वैभव कृष्ण सस्पेंड

 


नोएडा (स्वतंत्र प्रयाग): यूपी के मुख्यमंत्री योगी अदित्यनाथ ने गौतमबुद्धनगर के एसएसपी वैभव कृष्ण को निलंबित कर दिया गया है। इसके साथ ही गाजियाबाद, लखनऊ, रामपुर, सुल्तानपुर, इटावा और बांदा के पुलिस कप्तानों का तबादला कर दिया गया।


लखनऊ एसएसपी कलानिधि नैथानी को एसएसपी नोएडा के रूप में स्थानांतरित किया गया है। प्रवक्ता ने बताया कि फॉरेंसिक लैब की रिपोर्ट में वह वीडियो और चैट सही पायी गई, जिसे कृष्ण ने फर्जी बताया था। फॉरेंसिक जांच में सामने आय़ा कि वीडियो ‘एडिटेड और मार्फ्ड’ नहीं था।
 
गौरतलब है कि एसएसपी वैभव कृष्ण के कथित वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुए थे। एसएसपी के कथित वायरल वीडियो मामले ने प्रदेश की पूरी ब्योक्रेसी को हिला दिया था। दावा किया गया कि वीडियो में एसएसपी लेटे हुए लड़की से चैटिंग कर रहे हैं।


माना जा रहा है कि चैट करने वाली लड़की ने इस वीडियो को खुद ही रिकॉर्ड किया और वायरल कर दिया। हालांकि बाद में एसएसपी ने कथित वायरल वीडियो पर पर सफाई दी थी। वैभव कृष्ण ने कहा था कि उनके नाम से तीन फर्जी वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल किए जा रहे हैं, जिनमें पीछे से किसी लड़की की आवाज सुनाई दे रही है।एसएसपी ने कहा था कि यह वीडियो साजिश के तहत उन्हें बदनाम करने के लिए वायरल किए गए।


उन्होंने प्रदेश के पुलिस अधिकारियों पर सवाल उठाए थे। जिसके बाद डीजीपी ओपी सिंह ने वैभव कृष्ण पर हमला बोलते हुए कहा था कि एसएसपी का कृत्य सर्विस नियमों के खिलाफ है। डीजीपी ने बताया था कि वैभव कृष्ण से स्पष्टीकरण मांगा गया।


डीजीपी ने कहा था, 'गोपनीय दस्तावेज वायरल करना गैरकानूनी है। गोपनीय दस्तावेज के साथ ऑडियो भी वायरल किया गया था। एसएसपी ने सर्विस नियम का उल्लंघन किया गया। एसएसपी ने गोपनीय दस्तावेज भेजे थे।'


इस पूरे मामले में मुख्यमंत्री योगी ने भी स्वत: संज्ञान लेते हुए मेरठ जोन के आईजी से रिपोर्ट मांगी थी। उन्होंने आईजी रेंज मेरठ आलोक सिंह को इस बाबत निर्देश दिए थे। आलोक सिंह की निगरानी में एसपी हापुड़ संजीव सुमन को जांच सौंपी गई थी।