बुधवार, 1 जनवरी 2020

सीएए  कानून के खिलाफ जनता को भड़का रहा विपक्ष,नहीं झुकेगी सरकार : जी किशन रेड्डी


वाराणसी (स्वतंत्र प्रयाग)- केंद्रीय गृह राज्यमंत्री जी किशन रेड्डी ने विपक्षी दलों पर नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के खिलाफ जनता में भ्रम फैलाकर उन्हें भड़काने एवं हिंसक प्रदर्शन के लिए प्रेरित करने का आरोप लगाते हुये कहा कि यह कानून किसी भी भारतीय के खिलाफ नहीं है और इसे किसी भी दवाब में वापस नहीं लिया जाएगा।


रेड्डी ने दो दिवसीय यहां के दौरे के आखिरी दिन बुधवार को वाराणसी सर्किट हाउस में संवाददाताओं को संबोधित करते हुए कहा कि सीएएए को लेकर विपक्षी दलों का व्यवहार बेहद गैर जिम्मेदाराना है। विपक्षी दलों की ओर से जनता के बीच भ्रम फैलाकर पर उन्हें हिंसक प्रदर्शन के लिए उकसाया जा रहा है।


सरकार इस बारे में जानती है, लेकिन आम आदमी को भी उनके इस रवैये से अवगत होना होगा तथ उन्हें देश हित के कार्यों की जरूरतों को समझना होगा। 
उन्होंने देशवासियों को भरोसा दिलाते हुए कहा कि यह कानून किसी भी भारतीय के खिलाफ नहीं है और इसे किसी भी दवाब में वापस नहीं लिया जाएगा।


उन्होंने विपक्षी पार्टियों से भारत की आम जनता को भड़काना बंद करने की अपील करते हुए कहा कि नागरिकता कानून में किया गया संशोधन से किसी भी तरह से पीछे हटने का सवाल नहीं है क्योंकि यह देश एवं मानव हित में उठाया गया महत्वपूर्ण कदम है। केंद्रीय राज्यमंत्री रेड्डी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के गत पांच वर्षों के कार्यकाल के दौरान की कुछ उपब्धियों का जिक्र करते हुए कहा कि किसी भी तरह का धार्मिक संघर्ष नहीं हुआ है।


गरीबों को बहुत ही कम कीमत पर अनाज उपलब्ध हुए हैं। गांव-गांव बिजली पहुंचाई गई है। लोगों को रसोई गैस की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। स्वास्थ्य सेवाएं बेहतर हुई हैं और इससे लोगों का जीवन बेहतर हुआ है। राष्ट्रीय राजमार्ग एवं प्रधानमंत्री सड़क निर्माण कार्यों में भी तेजी से काम हो रहा है।


इस बीच कांग्रेस के वरिष्ठ नेता एवं पूर्व विधायक अजय राय ने श्री रेड्डी के आरोपों को खारिज करते हुए कहा कि चेतावनियों से आंदोलन पर असर नहीं पड़ेगा। आम जनता स्वत: सीएए का विरोध कर रही है। उन्होंने कहा कि जनता को गुमराह एवं बांटने के उद्देश्य से ही भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) नेतृत्व वाली केंद्र सरकार ने कानून में संशोधन किया तथा धर्म के आधार पर विदेशी अल्पसंख्यकों को नागरिकता देने वाला कानून बनाया है।


उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि भाजपा का इतिहास ही जनता को गुमराह करने एवं उनके बीच भ्रम फैलाकर का सत्ता हासिल करने की रही है, जबकि कांग्रेस हर धर्म एवं जाति के लोगों को साथ लेकर चलने के धर्म पर कायम है। भाजपा धर्म का दुरुपयोग कर सत्ता में बने रहना चाहती है।


राय ने कहा कि अधिकांश गैर भाजपा शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने सीएए को लागू करने से इनकार कर दिया। कांग्रेस शासित राज्यों के मुख्यमंत्री शोधित कानून को लागू नहीं करने की घोषणा कर चुके हैं। इससे साफ है कि सीएए के खिलाफ आंदोलन अपने अंजाम तक पहुंचने से पहले रुकने वाला नहीं है।


कोई टिप्पणी नहीं:

एक टिप्पणी भेजें