राज्य सडक निधि योजना के तहत विभिन्न जनपदों के विभिन्न मार्गों के लिए पांच करोड़ नब्बे हजार रुपये की राशि की गई स्वीकृत


 


लखनऊ, (स्वतंत्र प्रयाग)उत्तर प्रदेश  के उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य के निर्देशों के अनुपालन में राज्य सड़क निधि से विभिन्न जनपदों के सड़क निर्माण कार्यों हेतु 5 करोड़ 90 हजार की धनराशि उत्तर प्रदेश शासन द्वारा अवमुक्त की गयी है।


 इस सम्बन्ध में आवश्यक शासनादेश लोक निर्माण अनुभाग-1 द्वारा जारी कर दिये गए हैं।लोक निर्माण विभाग द्वारा जारी शासनादेश में राज्य सड़क निधि से जनपद प्रतापगढ़ में सगरा पहाड़पुर पूरब गांव मार्ग के चैड़ीकरण एवं सुदृढ़ीकरण कार्य हेतु  1 करोड़ 32 लाख 69 हजार की धनराशि अवमुक्त की गयी है।


इस कार्य की कुल लागत 13 करोड़ 26 लाख 90 हजार है। जनपद गाजीपुर में 5 स्वीकृत मार्गों के चालू कार्यों हेतु अवशेष धनराशि 1 करोड़ 21 लाख 35 हजार अवमुक्त की गयी है तथा विभिन्न जनपदों के 09 मार्गों के नवनिर्माण हेतु 2 करोड़ 46 लाख 86 हजार की धनराशि शासन द्वारा अवमुक्त की गयी है। 


इन कार्यों की कुल लागत 3 करोड़ 29 लाख 46 हजार है। इन 9 कार्यों में बाराबंकी में 02, अयोध्या, सुल्तानपुर, सिद्धार्थनगर, रायबरेली, हमीरपुर, बांदा व जालौन में 1-1 सड़क के नवनिर्माण के कार्य कराये जाने है।


इसके अतिरिक्त राज्य सड़क निधि से ही जनपद लखनऊ में मोहान मार्ग पुल चैराहे से हरदोई रिंग रोड के नवीनीकरण के कार्य किमी 1 से 5(305) हेतु कुल लागत 4 करोड़ 90 लाख 41 हजार की प्रशासकीय एवं वित्तीय स्वीकृति के साथ चालू वित्त वर्ष में  2 करोड़ 45 लाख 20 हजार की धनराशि शासन द्वारा अवमुक्त की गयी है।


उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य ने निर्देश दिये हैं कि सभी सम्बन्धित अधिकारी अवमुक्त धनराशि का उपयोग निर्धारित मानकों के अनुरूप व निर्धारित समयसीमा के अन्दर किया जाना सुनिश्चित करें। 


श्री मौर्य ने यह भी निर्देश दिये हैं कि आवंटित धनराशि का उपयोग प्रत्येक दशा में 31 मार्च 2020 तक कर लिया जाय तथा कार्य सम्पादन के अनुरूप उपयोगिता प्रमाण पत्र शासन को 30 अप्रैल 2020 तक उपलब्ध करा दिया जाय तथा सड़क निधि हेतु गठित प्रबन्धन समिति द्वारा अनुमोदित परियोजनाओं,प्रयोजनों के लिये ही स्वीकृत, आवंटित धनराशि का उपयोग किया जाय।