पं0 दीनदयाल उपाध्याय सम्पर्क मार्ग योजना के अन्तर्गत 7 करोड 4 लाख़ 80 हजार की धनराशि की गयी अवमुक्त


लखनऊ,(स्वतंत्र प्रयाग) उत्तर प्रदेश  के उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य के निर्देशों के अनुपालन में पं0 दीनदयाल उपाध्याय योजना के अन्तर्गत 250 से अधिक आबादी के बसावटों को सम्पर्क मार्गों से जोड़ने हेतु 6 जनपदों को यथा बलरामपुर, गोण्डा, अयोध्या, अमेठी, बहराईच व चन्दौली के 57 नये सम्पर्क मार्गों के नवनिर्माण हेतु कुल लागत  17 करोड़ 62 लाख की वित्तीय स्वीकृति प्रदान करते हुये उ0प्र0 शासन द्वारा 7 करोड़ 4 लाख 80 हजार की धनराशि प्रथम किस्त के रूप में अवमुक्त की गयी है।


 इस सम्बन्ध में लोक निर्माण अनुभाग-9 द्वारा शासनादेश जारी कर दिया गया है। इन 57 सम्पर्क मार्गों में बलरामपुर में 3, गोण्डा में 32, अयोध्या में 15, अमेठी में 5 व बहराइच तथा चन्दौली में 1-1 सम्पर्क मार्गों का निर्माण किया जाना है।


उपमुख्यमंत्री श्री केशव प्रसाद मौर्य ने निर्देश दिये हैं कि सभी सम्बन्धित अधिकारी अवमुक्त धनराशि का उपयोग निर्धारित मानकों के अनुरूप व निर्धारित समयसीमा के अन्दर किया जाना सुनिश्चित करें। श्री मौर्य ने यह भी निर्देश दिये हैं कि आवंटित धनराशि का उपयोग सुनिश्चित करें। 



शासनादेश में प्रमुख अभियन्ता (विकास) एवं विभागाध्यक्ष, लोक निर्माण विभाग को निर्देशित किया गया है कि कार्य की विशिष्टियों, मानक व गुणवत्ता पर विशेष ध्यान दें और वह सुनिश्चित करेंगे कि कार्य निर्धारित समयसीमा में पूर्ण हो जायें। स्वीकृत धनराशि एकमुश्त न आहरित कर कार्य की आवश्यक्तानुसार आहरित कर व्यय की जायेगी तथा आहरित धनराशि बैंक/डाकघर/पी0एल0ए0/डिपाॅजिट खाते में नहीं रखी जायेगी। यह भी निर्देश दिये गये हैं।


कि स्वीकृत धनराशि का व्यय वित्तीय हस्तपुस्तिकाओं के सुसंगत प्राविधानों एवं समय-समय पर शासन द्वारा निर्गत शासनादेशों के अनुरूप किया जाय और जिस मद/कार्य में धनराशि स्वीकृत की गयी है उसका व्यय प्रत्येक दशा में उसी मद,कार्य में किया जाय।