पाकिस्तान से आए  टिड्डी दल से गुजरात के किसान दुबारा हो रहें परेशान , मात्र 3 गांव में ही - कृषि अधिकारी


पालनपुर (स्वतंत्र प्रयाग): पाकिस्तान और राजस्थान की ओर से गुजरात में एक बार फिर घुस आये टिड्डी दल का फैलाव अब तक केवल उत्तरी जिले बनासकांठा के तीन गांवों में ही हुआ है। हवा की बदली दिशा के कारण फसल को तेजी से नष्ट करने वाले इन कीटों का दल अब तेजी से वापस भी लौट रहा है।


बनासकांठा के जिला कृषि अधिकारी पी के पटेल ने आज यूएनआई को बताया कि दो दिन पहले पाकिस्तान/राजस्थान की ओर से दोबारा घुस आये टिड्डी दल को अब तक केवल एक तालुका वाव के तीन गांवों मावसरी, कुंडारिया और राधा नेसड़ा में ही देखा गया है। वहां भी उन्हें नियंत्रण का काम युद्ध स्तर पर जारी है।


वैसे हवा की बदली दिशा के चलते ये तेजी से वापस भी लौट रहे हैं। इन तीनों गांवों में फिलहाल जीरा, एरंड और काली सरसों की फसलें खेतों में हैं।
 
पटेल ने कहा कि टिड्डी दल के नियंत्रण के बाद नुकसान का सर्वे किया जायेगा। उन्होंने बताया कि राज्य के किसी अन्य जिले में टिड्डी दल इस बार नहीं गया है। ज्ञातव्य है कि इससे पहले गत 14 दिसंबर से लेकर उस माह के अंत तक टिड्डी दल ने बनासकांठा और पाटण जिलों में फसलों को खासा नुकसान पहुंचाया था जिसके चलते सरकार ने गत सात जनवरी को दोनो जिलों के लगभग 11000 किसानों को साढ़े 31 करोड़ रूपये की आर्थिक सहायता भी देने की घोषणा की थी।


टिप्पणियाँ

इस ब्लॉग से लोकप्रिय पोस्ट

प्रधानमंत्री जी भारतीय आयुर्वेद चिकित्सा में,लेमन थेरेपी से कोरोना वायरस को मिल रही है मात,:-पूर्व डीजीपी मैथलीशरण गुप्त

Coronavirus से घबराएं नहीं,दो बूंद नींबू का रस लें, पिएं हल्दी युक्त गुनगुना पानी :-पूर्व डीजीपी मैथिलीशरण गुप्त

कल से बदल जाएंगे कई नियम , आम आदमी की जेब और घर के बजट पर इसका सीधा असर