पाकिस्तान के पंजाब सरकार ने शरीफ की मेडिकल रिपोर्ट खारिज की 



कराची (स्वतंत्र प्रयाग): पाकिस्तान के पंजाब प्रांत की सरकार ने पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की मेडिकल रिपोर्ट को खारिज कर दिया है। सरकार का कहना है कि यह रिपोर्ट लंदन के उनके जनरल फिजिशयन ने नहीं बल्कि एक निजी डॉक्टर ने तैयार की है।


द एक्सप्रेस ट्रिब्यून द्वारा प्राप्त की गई जानकारी के अनुसार, मेडिकल रिपोर्ट में शरीफ की ब्लड प्लेटलेट्स काउंट से संबंधित इलाज का विवरण नहीं है।सात साल की जेल की सजा पा चुके पूर्व प्रधानमंत्री की जमानत मंजूर किए जाने के बाद उन्हें उनके प्लेटलेट काउंट में लगातार गिरावट होने के कारण इलाज के लिए विदेश जाने की भी अनुमति दी गई थी।


सूत्रों का दावा है कि शरीफ ने उस डॉक्टर द्वारा तैयार की गई मेडिकल रिपोर्ट भेजी है, जिससे उन्होंने लंदन में अपना चेकअप भी नहीं कराया था।
 
ब्रिटेन में नियमों के अनुसार, एक मरीज जिस डॉक्टर से नियमित तौर पर अपना इलाज करवाता है, मरीज के चेकअप का पूरा विवरण भी वही डॉक्टर जारी कर सकता है। द एक्सप्रेस ट्रिब्यून की रिपोर्ट के अनुसार, नियमों के तहत विवरण की एक प्रति डॉक्टर अपने पास रखता है और दूसरी प्रति मरीज को दी जाती है, जबकि तीसरी कॉपी अस्पताल के पास रिकॉर्ड के तौर पर मौजूद रहती है।


रिपोर्ट के अनुसार, शरीफ को प्लेटलेट कमी और (आईटीपी) बीमारी के कारण चार कार्डियाक चेकअप से गुजरना पड़ा, वहीं एक कार्डियोलॉजिस्ट ने कुछ और टेस्ट कराने के लिए कहा है। कार्डियोलॉजिस्ट (हृदय संबंधी डॉक्टर) साइमन ब्रेट वुड द्वारा लंदन के गायज हॉस्पिटल में शरीफ के तीन चेकअप करने के बाद उन्हें एंजियोप्लास्टि करने का निर्देश दिया था। सूत्रों ने हालांकि दावा किया है कि वुड ने कोई भी रिपोर्ट जमा नहीं कराई है।