घूस ना देने पर 4साल के बच्चें को 104 साल का वीडियो ने जारी किया जन्म प्रमाणपत्र, न्यायालय ने एफआईआर दर्ज कर कार्यवाही का दिया आदेश


बरेली (स्वतंत्र प्रयाग) यूपी के बरेली में रिश्वत नहीं देने पर 2 भाईयों की उम्र 100 साल बढ़ाकर दर्ज करने का मामला सामने आया है। आरोप है कि एक भाई जिसकी उम्र 4 साल है उसे 104 और दो साल वाले की 102 साल दर्ज कर दी। पीड़ितों के कोर्ट पहुंचने पर विशेष न्यायधीश भ्रष्टाचार निवारण कोर्ट ने आरोपित वीडिओ और ग्राम प्रधान पर केस दर्ज कर जांच करने के आदेश दिए हैं।  


बता दें कि बेला गांव के रहने वाले पवन कुमार कहते हैं, मैंने अपने भतीजे शुभ (4) व संकेत (2) का जन्म प्रमाण पत्र बनवाने के लिए ऑनलाइन अप्लाई किया था। ग्राम विकास अधिकारी सुशील चंद्र अग्निहोत्री और ग्राम प्रधान प्रवीण मिश्र ने मुझसे प्रति जन्म प्रमाण पत्र 500 रुपये की रिश्वत मांगी।


 


लेकिन मैंने इनकार कर दिया। इसके बाद दोनों ने मिलकर शुभ की जन्मतिथि 13 जून 2016 के स्थान पर 13 जून 1916 लिख दी। जबकि संकेत की 6 जनवरी 2018 की जगह 6 जनवरी 1918 दर्ज करके प्रमाण-पत्र जारी कर दिया। 


मामला करीब दो महीने पहले का है। पवन ने कहा, अफसरों से इसकी शिकायत की, लेकिन कोई सुनवाई न होने पर अधिवक्ता राजीव सक्सेना के माध्यम से बरेली की विशेष न्यायाधीश द्वितीय भ्रष्टाचार निवारण कोर्ट में अर्जी दी।


जिसपर विशेष न्यायाधीश मुहम्मद अहमद खां ने खुटार थाना की पुलिस को केस दर्ज करके मामले की जांच करने के आदेश दिए। वहीं, पुलिस ने कहना है कि कोर्ट से केस दर्ज करने का आदेश मिल गया है। कानूनी कार्रवाई की जा रही है।