दिल्ली विस चुनाव समिति की बैठक में नरेंद्र मोदी ने नेताओं को दिए चुनाव जीतने के टिप्स 


नई दिल्ली (स्वतंत्र प्रयाग)- दिल्ली विधानसभा चुनाव के लिए भाजपा 57 उम्मीदवारों के नामों की घोषणा कर चुकी है। इसके पहले उम्मीदवारों के नामों पर अंतिम निर्णय लेने के लिए गुरुवार रात हुई केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली भाजपा के नेताओं को जीत के मंत्र के तौर पर कुछ टिप्स दिए।


भाजपा सूत्रों के अनुसार, बैठक में हिस्सा लेने आए प्रधानमंत्री मोदी ने भाजपा नेताओं को सलाह दी कि जनता के बीच तथ्यों के साथ जाएं और चुनाव प्रचार में भाग लेकर दिल्ली की आप सरकार को उजागर करने का कार्य करें।
बैठक के बारे में जानकारी रखने वाले एक सूत्र के अनुसार, प्रधानमंत्री ने कहा कि आम आदमी पार्टी जनता के बीच मोहल्ला क्लीनिक का जम कर प्रचार कर रही है।


जबकि 'मोहल्ला क्लीनिक' से कई गुना बड़ी योजना केंद्र सरकार की 'आयुष्मान भारत योजना' है, जिसे राजनीति के तहत दिल्ली सरकार ने नकार दिया है। इस तथ्य को जनता को बताना होगा। सूत्र ने बताया कि प्रधानमंत्री ने याद दिलाया कि दिल्ली की समस्याओं को खत्म करने में नाकाम रही आप की सरकार हर समस्या के जवाब में फ्री बिजली की बात कर रही है।


इस बात को लोगों तक पहुंचाना होगा। दिल्ली सरकार चुनाव से पहले कुछ ही लोगों को फ्री बिजली दे रही है, इस तथ्य को जनता के बीच पूरे ब्यौरे के साथ ले जाना होगा। उन्होंने बैठक में उपस्थित चुनाव समिति के सदस्यों से कहा कि जनता को बताना होगा कि "क्या फ्री बिजली देना समस्या का समाधान है?"


सूत्र के अनुसार, प्रधानमंत्री ने याद दिलाया कि आम आदमी पार्टी (आप) जीत का झूठा माहौल बना रही है। आम आदमी पार्टी की हकीकत यह है कि वह पिछला दिल्ली विधानसभा चुनाव छोड़कर हर चुनाव हारी है। आप का हारने का लंबा इतिहास रहा है। पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक व दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल खुद वाराणसी में तब के भाजपा उम्मीदवार नरेंद्र मोदी से लोकसभा का चुनाव हारे थे।


वहीं, आप पंजाब विधानसभा चुनाव से लेकर दिल्ली एमसीडी चुनाव सहित 2019 का लोकसभा चुनाव भी हार चुकी है। सूत्र के अनुसार, प्रधानमंत्री ने कहा कि अगर जनता के बीच तथ्यों को सही तरीके से रखा गया, तो इस बार का विधानसभा चुनाव भी आम आदमी पार्टी हार जाएगी। प्रधानमंत्री ने दिल्ली भाजपा नेताओं को उत्साहित करते हुए कहा, "अगर आप के खिलाफ जनता के बीच माहौल बना दिया गया, तो हम चुनाव जीत सकते हैं।